NIA से पूछताछ में आतंकी ने खोले कई राज़, कहा- पाक फौज के लोगों ने दी थी ट्रेनिंग

Aug 10, 2016

उत्तरी कश्मीर से हाल ही में पकड़े गए लश्कर ए तैयबा के आतंकवादी और पाकिस्तानी नागरिक बहादुर अली ने पूछताछ के दौरान एनआईए के सामने कई बड़े खुलासे किए हैं.

बहादुर अली ने कबूल किया है कि उसे पाकिस्तान से ट्रेनिंग देकर कश्मीर भेजा गया था. उसे पाकिस्तानी फौज के लोगों ने ट्रेनिंग दी. उसे जमात उद दावा में भर्ती किया गया था. उसके बाद लश्कर ने उसे कट्टर बनाया. एनएआई ने बुधवार को अपनी प्रेस कांफ्रेंस में बहादुर के कबूलनामे वाला वीडियो दिखाया.

एनआईए ने बताया कि बहादुर अली को पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में स्थित आतंकवादी समूहों के कंट्रोल रूम से पाकिस्तानी बलों की मदद से लगातार निर्देश मिल रहे थे.

एनआईए के मुताबिक बहादुर अली लगातार लश्कर ए तैयबा के अपने आकाओं के कंट्रोल सेंटर अल्फा 3 से संपर्क में था.

एनआईए ने बताया कि लश्कर ए तैयबा के आतंकवादी बहादुर अली को दिया गया हथियार और गोलाबारूद का प्रशिक्षण इसमें सैन्य विशेषज्ञों का शामिल होना दिखाता है. उसके पास से बरामद चीजों से पता चलता है कि उसे कोड में जानकारी मुहैया कराई जाती थी.

आतंकी ने बताया कि पाकिस्तान में 30 से 50 आंतकियों को वहां तैयार रखा गया है. उन्हें वहां ट्रेनिंग कैंपों में ट्रेनिंग दी जाती है.

उसने बताया कि वह 11-12 जून की रात को भारत में दाखिल हुआ था.

एनआईए हिज्बुल मुजाहिदीन आतंकी बुरहान वानी की मौत के बाद कश्मीर घाटी में बने हालात के पीछे लश्कर ए तैयबा की भूमिका की जांच कर रहा है.

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>