पड़ोसियों के हमले से गर्भवती महिला के गर्भ में पल रहे शिशु की मौत

Aug 22, 2016
पड़ोसियों के हमले से गर्भवती महिला के गर्भ में पल रहे शिशु की मौत

फरीदाबाद (सूरजमल)। बच्चों के झगड़े को लेकर यहां के सिही गांव में रहने वाली एक गर्भवती महिला की उसके पड़ोसियों ने जमकर पिटाई कर दी।

मारपीट के दौरान आरोपियों ने उसके पेट में लात मार दी। जिससे महिला की हालत बिगड़ गई। उसे तुरंत अस्पताल ले जाया गया। जहां काफी इलाज के बाद उसने एक मृत बच्ची को जन्म दिया।

पीड़िता का कहना है कि आरोपियों की पिटाई से गर्भ में उसकी बच्ची की मौत हुई है। थाना सैक्टर सात पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया है।

पुलिस के मुताबिक मूलरूप से उत्तरप्रदेश के फतेहगढ़ में रहने वाले कश्मीर सिंह की पत्नी रतना ने अपनी शिकायत में कहा है कि गत 15 अगस्त की शाम को करीब पांच बजे वह अपने घर में काम काज कर रही थी। इसी दौरान उसका ढाई साल का बेटा खेलने के लिए घर से बाहर निकल गया।

बाहर जाकर वह पड़ोस में रहने वाली रूपा के तीन वर्षीय बेटे के साथ खेलने लगा। खेलते खेलते दोनों बच्चों में झगड़ा हो गया। आरोप है कि इसी बात पर रूपा के परिजन दीपू, कमल व दीपक उसे उलटा सीधा बोलने लगे। रतना का कहना है कि उसने कहा कि दोनों बच्चे है, इनमें झगड़ा होता रहता है। इसमें गाली गलौच करने की क्या बात है।

आरोप है कि इस बात पर दीपू, कमल व दीपक तैश में आ गए और रतना के साथ मारपीट शुरू कर दी। महिला का कहना है कि तीनों आरोपियों ने उसे जमीन पर गिरा दिया और उसके पेट और शरीर पर लात घूंसे बरसाते रहे।

बदमाशों ने पिस्तौल दिखाकर गहना व्यापारी से लूटा नकदी व गहने से भरा बैग
आरोपियों के चंगुल से छूटकर महिला जैसे तैसे वहां से बाहर भाग निकली। आरोप है कि तीनों आरोपियों ने उसका पीछा शुरू कर दिया और गली में कर्मवीर की दुकान तक पीछा कर उसे फिर से पकड़ लिया और मारपीट शुरू कर दी। तभी वहां पर महिला की सास राजवती व ननद दुर्गेश पहुंच गई।

जिन्होंने महिला को आरोपियों के चंगुल से छुड़ाया। पीड़िता का कहना है कि पिटाई से कुछ देर बाद उसे ब्लीडिंग शुरू हो गई। जिसका वह घरेलू तौर पर इलाज करती रही। हालत ज्यादा बिगडऩे पर 17 अगस्त को परिवार के लोग उसे बल्लभगढ़ के सिविल अस्पताल ले गए।

सिविल अस्पताल में डॉक्टरों ने हालत गंभीर देख रतना को बीके अस्पताल के लिए रेफर कर दिया। बीके में उसका इलाज शुरू कर दिया गया। 20 अगस्त को उसने मृत बच्ची को जन्म दिया। पीडिता ने इस मामले की शिकायत पुलिस को दी।

मामले के जांच अधिकारी एएसआई महेंद्र सिंह ने बताया कि आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर उनकी तलाश शुरू कर दी गई है। आरोपियों को जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

Jan 19, 2018

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>