लव मैरिज के दो हफ्ते बाद ही पत्‍नी ने मांगा तलाक, जानें पूरा मामला

Jul 03, 2016
पति को तब सदमा लगा जब उसे पता चला कि पुलिस ने उसे दहेज विरोधी कानून के तहत सेक्‍शन 498A के लिए आरोपी ठहराया और उसे गिरफ्तार किया जाएगा।

नई दिल्ली। माता-पिता की मंजूरी के बिना सविता कुलकर्णी (बदला हुआ नाम) ने आनंद (बदला हुआ नाम) से शादी तो कर ली पर ससुराल के तौर-तरीकों से परेशान हो दो हफ्तों में ही पति को छोड़ने का निर्णय ले लिया।

सविता तब परेशान हो जाती थी जब उसका पति घर पर पोर्क लेकर आता और पकाने के साथ-साथ खाने की भी जबर्दस्ती करता था। मजबूरन शादी के दो हफ्तों के भीतर ही उसने पति को छोड़ दिया और तलाक की मांग की।

सविता का पति, आनंद तब हतप्रभ रह गया जब उसे पता चला कि उसपर दहेज विरोधी कानून के तहत धारा 498A लगाया गया है और जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा। उसने मेल टुडे से कहा, ‘मैंने ऐसा कभी नहीं सोचा था। अपनी पत्नी को मैंने अपने सभी रीति रिवाजों से अवगत करा दिया था।‘

आनंद ने कहा उसके परिवार में से किसी ने उसे पोर्क खाने को मजबूर नहीं किया। 2008 में आनंद और सविता एक दूसरे से मिले थे और सात साल बाद इन्होंने कोर्ट में जाकर शादी कर ली। विभिन्न परिवेश और माता-पिता की सहमति के बिना ही दोनों ने शादी की थी।

सविता ने पुलिस में दर्ज करायी गयी अपनी शिकायत में कहा, ‘शादी से पहले मैंने अपने पति से यह स्पष्ट कर दिया था कि मैं अपने रहन सहन और खाने की आदतों को नहीं बदलूंगी और इसपर वह सहमत भी था। उसने मुझे कहा था कि वह मांसाहारी खाना छोड़ देगा लेकिन शादी के बाद मुझे पोर्क पकाने के साथ खाने को भी मजबूर किया जाता था। वे कहते थे कि खास मौकों पर पोर्क खाना उनका रीति रिवाज है। मैंने उसके झूठे वादों पर विश्वास कर लिया और अपने परिवार से भी नाता तोड़ लियाI अगर मुझे इस बात का अंदाजा होता तो अपने माता-पिता के खिलाफ कभी नहीं जाती।‘

सविता ने अपने शिकायत में यह भी कहा कि उसपर कई तरह की पाबंदियां लगा दी गयी थी। मेरा शोषण किया गया है।

मेल टुडे ने जब इस बाबत सविता से बात करने की कोशिश की तो उसने किसी तरह का बयान देने से मना कर दिया और कहा कि यह मामला अभी कोर्ट में है लेकिन उसने यह कहा कि उसके पति व ससुरालवालों ने उसका शोषण किया है।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>