बातचीत से अयोध्या मसले का हल चाहती हैं उमा भारती

Jun 05, 2016
मंदिर निर्माण का मुद्दा उठाने वाले भाजपा सांसद सुब्रह्माण्यम स्वामी को उमा ने अपना हीरो बताया।

नई दिल्ली, प्रेट्र। श्री राम जन्मभूमि आंदोलन की तेजतर्रार नेता रहीं केंद्रीय मंत्री उमा भारती बातचीत के जरिये अयोध्या मसले का हल चाहती हैं। मंदिर निर्माण का मुद्दा उठाने वाले भाजपा सांसद सुब्रह्माण्यम स्वामी को उमा ने अपना हीरो बताया। कहा कि वह उनकी (स्वामी) उस बात पर पूरा भरोसा करती हैं कि इस वर्ष के अंत तक अयोध्या में राम मंदिर निर्माण शुरू हो जाएगा।

इस वर्ष मंदिर निर्माण शुरू होने के स्वामी के दावे पर उमा भारती का कहना है, ‘मैं स्वामी की बहुत इज्जत करती हूं। वह मेरे हीरो हैं। जब इमरजेंसी लगाई गई तो उस समय मैं 15 या 16 वर्ष की थी, उस दौरान डॉ. स्वामी और जार्ज फर्नाडिस मेरे हीरो थे। स्वामी जो भी कह रहे हैं। उस पर मैं भरोसा करूंगी।’ उमा भारती का यह बयान ऐसे समय आया है, जब उप्र में सत्ता पर काबिज होने के लिए भाजपा इस मुद्दे पर बात करने की इच्छुक नहीं है और बार-बार विकास को चुनावी मुद्दा बनाने पर जोर दे रही है।

पढ़ेंः

इस संवाददाता से विशेष बातचीत में केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘अयोध्या में अब केवल भूमि को लेकर विवाद है। इस पर कोई विवाद नहीं है कि वह राम जन्मभूमि है या नहीं। लिहाजा भूमि विवाद हल करने के लिए किसी आंदोलन की कोई जरूरत नहीं है। मैं मानती हूं कि बातचीत के जरिये राम जन्मभूमि मुद्दे का सबसे अच्छा हल निकाला जा सकता है।’

उन्होंने सुझाव दिया कि विवाद से जुड़े पक्षों को आपस में बैठ कर मसला सुलझाना चाहिए और कोर्ट से कह देना चाहिए कि मसले का समाधान निकाल लिया गया है। उमा भारती ने खुद को उप्र विधान सभा चुनावों के लिए भाजपा का सीएम उम्मीदवार घोषित किए जाने की संभावना से इन्कार किया। लेकिन राज्य में भाजपा की सरकार बनने की संभावना जताई। उन्होंने कहा, ‘1991 की तरह हम फिर उप्र में स्पष्ट बहुमत से सरकार बनाएंगे।’

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>