टीएसडी की जानकारी नहीं की जाएगी सार्वजनिक

Aug 18, 2016
जनरल वीके सिंह द्वारा गठित की गई टीएसडी से संबंधित जानकारियों को सार्वजनिक करने से केंद्रीय सूचना आयोग ने इन्कार कर दिया है।

नई दिल्ली, प्रेट्र। थल सेनाध्यक्ष के रूप में जनरल वीके सिंह द्वारा गठित की गई टेक्निकल सर्विस डिवीजन (टीएसडी) से संबंधित जानकारियों को सार्वजनिक करने से केंद्रीय सूचना आयोग ने इन्कार कर दिया है। कहा है, यह जानकारी देने से देश की सुरक्षा पर हानिकारक असर पड़ेगा। आयोग ने इस बाबत प्राप्त याचिका को खारिज कर दिया है।

वीके सिंह ने गठित की थी खुफिया डिवीजन

सूचना आयुक्त दिव्य प्रकाश सिन्हा ने कहा, आयोग का मानना है कि इस तरह की सूचनाओं के सार्वजनिक होने से जनसामान्य से गैरजरूरी चर्चाएं पैदा होती हैं। इससे देश की सुरक्षा को आशंकाएं पैदा होती हैं, जिनके कि अंतरराष्ट्रीय प्रभाव होते हैं।

संप्रग सरकार में पैदा विवाद के बाद की गई थी निष्कि्रय

हमें कोई भी सूचना प्राप्त करने से पहले राष्ट्रीय सुरक्षा को ध्यान में रखना चाहिए और खुफिया सूचनाएं एकत्रित करने के तौर-तरीकों की संवेदनशीलता को दिमाग में रखना चाहिए। सूचना आयुक्त ने इस याचिका पर टेक्निकल सर्विस डिवीजन से जुड़े मामले की जांच करने वाले लेफ्टिनेंट जनरल विनोद भाटिया के साथ सुनवाई की। यह सुनवाई बंद कमरे में कैमरे के सामने हुई।

यह याचिका अपर्णा दत्ता बख्शी ने दाखिल की थी। वह कर्नल मुनीश्वर हनी बख्शी की पत्नी हैं। कर्नल बख्शी उस इकाई के प्रमुख हैं, जो टीएसडी के संबंध जानकारियां एकत्रित कर रही है और लेफ्टिनेंट भाटिया को सूचित कर रही है। इस डिवीजन का गठन सीक्रेट सर्विस फंड से किया गया था। संप्रग सरकार में इस डिवीजन को लेकर विवाद पैदा हो गया था। उसी के बाद उस पर जांच बैठाई गई और डिवीजन को निष्कि्रय किया गया।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>