दिनदहाड़े युवती के अपहरण की कोशिश, ऑटो से छलांग लगा दिखाया साहस

Aug 08, 2016
पीड़िता के साहस को देखकर आरोपी ऑटो लेकर भाग खड़ा हुआ, लेकिन लोगों ने उसका नंबर पुलिस को दे दिया।

भोपाल। राजधानी में शुक्रवार को दोपहर 2.30 बजे एक ऑटो चालक ने 23 वर्षीय छात्रा का अपहरण कर लिया। पीड़िता के विरोध करने पर आरोपी ने छेड़छाड़ शुरू कर दी। उससे बचने के लिए युवती ने साहस दिखाते हुए चलते ऑटो से छलांग लगा दी। पीड़िता के साहस को देखकर आरोपी ऑटो लेकर भाग खड़ा हुआ, लेकिन लोगों ने उसका नंबर पुलिस को दे दिया।

हैरानी की बात तो यह है कि पीड़िता की मदद के लिए आए लोग डायल 100 और एंबुलेंस 108 को कॉल करते रहे, लेकिन न तो डायल 100 और न ही 108 मौके नहीं पहुंची। मजबूरी में लोग निजी वाहन से घायल को गंभीर हालत में हमीदिया अस्पताल ले गए। उसका एक निजी अस्पताल में चल रहा है। पीड़िता पंचवटी कॉलोनी, एयरपोर्ट रोड से लालघाटी तक के लिए ऑटो में बैठी थी। पुलिस ने शनिवार शाम को आरोपी ऑटो चालक चंदू रतनानी (32) को गिरफ्तार कर लिया है। गांधीनगर स्थित शिवाजी वार्ड निवासी चंदू ने ऑटो शकील से 100 रुपए रोज किराए पर लिया था।

‘मैं उस बदमाश का चेहरा पहचान सकती हूं… मैं उसे नहीं छोड़ सकती’

‘मैं अपनी दीदी और उनकी सहेली के साथ शुक्रवार सुबह करीब साढ़े 10 बजे एक इंटरव्यू के संबंध में पंचवटी कॉलोनी, एयरपोर्ट रोड स्थित होटल निर्मल रेसीडेंसी आई थी। तबीयत खराब होने के कारण मैं दीदी से घर जाने का कहकर होटल के बाहर आ गई। मैंने एक ऑटो वाले को आवाज लगाई और उससे लालघाटी तक चलने को कहा। बीच रास्ते में ऑटो वाले ने मुझसे पूछा कि क्या आप रोज यहां आतीं हैं। मैंने उससे कहा नहीं, मेरा इंटरव्यू था। लालघाटी से मैं बस लेकर न्यू-मार्केट चली जाऊंगी, लेकिन लालघाटी पहुंचने पर उसने ऑटो नहीं रोका और आगे जाने लगा। मैंने कहा भैय्या बस यहीं रोक दो, तो उसने ऑटो की स्पीड बढ़ा दी।

ये भी पढ़ें :-  प्रधानमंत्री मोदी महापुरुषों को बांटने में लगे हैं- राहुल गांधी

मैंने मदद के लिए चिल्लाना शुरू कर दिया, लेकिन किसी ने मेरी आवाज नहीं सुनी। वह मुझसे छेड़छाड़ करते हुए कहने लगा चुपचाप बैठा जा। मुझे कुछ समझ नहीं आया। मुझे लगा कि अगर मैंने ऑटो से छलांग नहीं लगाई, तो आरोपी मुझे पता नहीं कहां ले जाएगा। इसीलिए मैं चलते ऑटो से कूद गई। मेरी नाक और मुंह से खून निकल रहा था। मेरे सड़क पर गिरने के बाद काफी लोग जमा हो गए। सभी फोन लगाने लगे। कुछ आंटी भी वहां आ गई थीं। इसके बाद मुझे नहीं पता मैं अस्पताल कैसे पहुंची, लेकिन मैं उस बदमाश का चेहरा अच्छे से पहचान सकती हूं। मैं उसे नहीं छोड़ सकती।’

ये भी पढ़ें :-  अच्छे दिन वालों ने बुंदेलखंड को भेजी थी पानी की खाली ट्रेन : अखिलेश

अब मैं कभी ऑटो में नहीं बैठूंगी

घटना के बाद से ही पीड़िता इतनी घबराई हुई है कि वह अपनी बहन को 1 मिनट के लिए भी नहीं छोड़ रही है। वह एक ही बात कह रही है कि अब मैं कभी ऑटो में नहीं बैठूंगी। उसने कहा कि अकेले होने पर किसी भी सूरत में ऑटो या ऐसे ही किसी वाहन में न बैठें। जहां तक संभव हो लो फ्लोर बस में ही सफर करना चाहिए।

चार भाई-बहनों में सबसे छोटी

होशंगाबाद निवासी 23 वर्षीय पीड़िता बीएससी पास करने के बाद प्रतियोगी परीक्षा की तैयार कर रही है। उसकी बड़ी बहन मालवीय नगर में पेइंग गेस्ट है। वहीं पीड़िता रोज होशंगाबाद से भोपाल अप-डाउन करती है। पीड़िता की बड़ी बहन ने बताया कि मुझे दोपहर करीब ढाई बजे बहन के नंबर से किसी ने फोन कर घटना की जानकारी दी। मैं तुरंत हमीदिया अस्पताल पहुंची, तो उसके कान से खून बह रहा था। मैं उसे तत्काल मालवीय नगर स्थित निजी अस्पताल ले आई।

सड़क पर खून से लथपत पड़ी रही काफी देर

ऑटो से गिरने के कारण युवती के कान और मुंह से खून निकलने लगा था। लोग एक्सीडेंट समझकर मदद के लिए आए थे, लेकिन जैसे ही उन्हें घटना का पता चला उन्होंने तत्काल डायल 100 और 108 को कॉल करना शुरू कर दिया। कॉल करने के काफी देर बाद भी जब डायल 100 और 108 नहीं आई, तो लोग उसे हमीदिया अस्पताल ले गए।

ये भी पढ़ें :-  डिजिटल बैंकिंग नहीं अपनाया तो इतिहास बन जाएंगे बैंक : आरबीआई

108 को कॉल किया तो वे बोले आधा घंटा लगेगा

प्रत्यक्षदर्शी सत्यप्रकाश तिवारी ने बताया कि मुझे लगा कि किसी का एक्सीडेंट हो गया है। मैं वहां पहुंचा, तो एक युवती खून से लथपत पड़ी थी। लोगों ने बताया कि युवती ने ऑटो से छलांग लगाई है। मैंने 108 को कॉल किया, लेकिन एंबुलेंस नहीं आई। उन्हें बताया गया कि सबसे नजदीक एंबुलेंस गांधीनगर के पास है। जिसे पहुंचने में करीब आधा घंटा लग जाएगा।

24 घंटे बाद हुई एफआईआर

हमीदिया अस्पताल से घटना की सूचना मिलते ही कोहेफिजा पुलिस भी मौके पर तो पहुंची पर पीड़िता से बातचीत कर वहां से रवाना हो गई। शनिवार को मीडिया के सक्रिय होते ही पुलिस ने आनन-फानन में ऑटो चालक पर अपहरण के प्रयास का मामला दर्ज कर शाम को आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

पीड़िता ही तैयार नहीं थी

पीड़िता से शुक्रवार को तीन बार संपर्क किया था, लेकिन वह मामला दर्ज कराने को तैयार नहीं थी। हमने शनिवार को ऑटो चालक के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर लिया है। आरोपी की तलाश की जा रही है।

– राजेश सिंह भदौरिया, एएसपी जोन-3

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected