तेंदुलकर ने दिखाई दरियादिली, स्कूल को दिया 76 लाख

Jun 13, 2016
सचिन तेंदुलकर ने पश्चिम मेदिनीपुर जिले के नारायणगढ़ में एक बदहाल स्कूल के भवन निर्माण के लिए एमपी लैड से 76 लाख रुपये दिए हैं।

राज्य ब्यूरो, कोलकाता। देश के महान क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर ने पश्चिम बंगाल के पश्चिम मेदिनीपुर जिले के नारायणगढ़ में एक बदहाल स्कूल के भवन निर्माण के लिए एमपी लैड से 76 लाख रुपये दिए हैं। स्कूल ने पिछले वित्तीय वर्ष में रुपये प्राप्त किए हैं। रुपये मिलने के बाद स्कूल का भवन निर्माण कार्य शुरू हो गया है।

ढांचागत सुविधाओं के अभाव से जूझ रहे स्वर्णमयी सशमल शिक्षा निकेतन के शिक्षक और छात्रों ने कभी सोचा भी नहीं था कि स्कूल के कायाकल्प के लिए सचिन की भी मदद मिल सकती है। स्कूल के प्रधानाध्यापक उत्तम कुमार मोहंती ने कहा कि सचिन को धन्यवाद देने और कृतज्ञता ज्ञापित करने के लिए उनके पास कोई शब्द नहीं है। लगभग एक हजार छात्र-छात्राओं के पठन-पाठन वाले इस स्कूल की स्थिति अत्यंत दयनीय थी। टूटी व पुरानी छत से बरसात में पानी टपकता था वह मदद के लिए बहुत से लोगों के पास गए, लेकिन कहीं से मदद नहीं मिली।

ये भी पढ़ें :-  योगी राज में प्रदेश पर चढ़ा भगवा का खुमार, थाने पर भी चढ़ा भगवा रंग

पढ़ेंः

दो वर्ष पहले उन्होंने स्थानीय सांसद प्रबोध पांडा से मदद की गुहार लगाई, लेकिन उन्होंने भी मदद का हाथ नहीं बढ़ाया। उनके मुताबिक पांच साल तक विधायक रहे माकपा के सूर्यकांत मिश्रा से भी कोई मदद नहीं मिली। मोहंती ने कहा कि क्रिकेट प्रेमी होने के कारण वह सचिन के फैन हैं। एक दिन अचानक सचिन से मदद मांगने की बात उनके दिमाग में आई। इंटरनेट पर उन्होंने सचिन का पता ढूंढा और उस पते पर स्कूल की दयनीय दशा का उल्लेख करते हुए पत्र लिखा।

2014 में पत्र भेजने के बाद वह इसे लगभग भूल चुके थे। छह महीने के बाद अचानक सचिन का पत्र आया जिसमें उन्होंने स्कूल के लिए 76 लाख रुपये देने की बात कही थी। बाद में स्कूल को फंड प्राप्त हुआ जिससे भवन निर्माण का काम चल रहा है। राज्यसभा का मनोनीत सदस्य होने के कारण सचिन देश के किसी भी भाग के लिए अपने कोटे से एमपी लैड का पैसा खर्च कर सकते हैं।

ये भी पढ़ें :-  गुजरात चुनावःBJP के लिए प्रचार कर रहे स्वामी नारायण संप्रदाय के पुजारी पर हमला

पढ़ेंः

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>