गाय के नाम पर कुछ लोग तनाव पैदा करना चाहते हैं: पीएम मोदी

Aug 07, 2016
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने तेलंगाना में कहा कि कुछ लोग गाय के नाम पर समाज में तनाव पैदा करना चाहते हैं।

हैदराबाद। प्रधानमंत्री ने कहा कि कुछ लोग गौरक्षा के नाम पर समाज में तनाव पैदा करना चाहते हैं। उन्होंने ऐसे लोगों के खिलाफ सचेत हो जाने के लिए कहा है। इसके साथ ही पीएम ने राज्य सरकार से भी कहा कि ऐसे लोगों के खिलाफ वह कड़ी कार्रवाई करे।

तेलंगाना के विकास और वहां के सरकार के काम को सराहते हुए पीएम मोदी ने कहा कि एक समय था जब केन्द्र और राज्य के बीच बेहद तनाव की स्थिति थी। आपसी संवाद नहीं था। लेकिन, आज केन्द्र और राज्य दोनों साथ मिलकर विकास का काम कर रहे हैं।

उन्होंने यह बात तेलंगाना क मेडक जिले में एनटीपीसी थर्मल पावर प्लांट के पहले चरण के उद्घाटन पर कही। पीएम ने कहा कि यह उनका पहला तेलंगाना दौरा है। तंलागना सिर्फ दो साल पुराना है लेकिन ये राज्य इस योग्य हो गया है कि अपने लोगों की अपेक्षाओं को पूरा कर सके।

मोदी ने आगे कहा कि जब भी तेलंगाना के मुख्यमंत्री केसीआर राव उनसे मिले उन्होंने पूरी भावुकता के साथ राज्य के विकास और पानी जैसे बुनियादी मुद्दों पर बात की। उन्होने आग कहा कि राज्य और देश के विकास के लिए मात्र एक ही रास्ता है और वो है- को-ऑपरेटिव फेडरलिज्म।

इस मौके पर मोदी ने कहा कि अगर आप लोगों से कोई पोरबंदर देखोगे तो पता चलेगा कि वहां पर कैसे गांव के लोगों की तरफ से करीब दो सौ साल पहले पानी की बचत करने के लिए किस तरह की तकनीक का इस्तेमाल करते थे। उस वक्त भी लोग पानी के महत्व को समझते थे और पानी की किल्लत से बचने के लिए हर बूंद पानी बचाने का प्रयास करते थे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तेलंगाना में एनटीपीसी के सुपर थर्मल पावर प्रोजेक्ट की आधारशिला रखी। आंध्र प्रदेश पुनर्गठन एक्ट 2014 में यह निर्देश दिया गया है कि नये गठित राज्य तेलंगाना में एनटीपीसी 4000 मेगावाट की बिजली सुविधा मुहैया कराएगी।

पीएम ने कहा, “हम पानी के महत्व को तब समझते हैं जब हमारे पास पानी की कमी हो जाती है। ये हमारा कर्तव्य बनता है कि पानी की बचत करें। ग्रामीण भारत और कृषि क्षेत्र भारतीय अर्थव्यवस्था की बड़ी संपत्ति है। हम इन दोनों को प्रोत्साहन देने जा रहे हैं ताकि इसकी तरक्की को रफ्तार मिल सके।”

इस मौके पर मुख्यमंत्री केसी राव ने बताया कि इतिहास में पहली बार पिछले दो वर्षों में भ्रष्टाचार मुक्त केन्द्र में सरकार रही है।

दो चरणों में पूरा होगा प्रोजेक्ट

एनटीपीसी यह प्रोजेक्ट दो चरणों में पूरा करेगा। पहला 1600 MW (2x800MW) और दूसरा 2400 MW (3×800 MW) का होगा। एनटीपीसी के मौजूदा रामागुंडम स्टेशन में यह प्रोजेक्ट लगाया जाएगा। इसमें आने वाले लागत के लिए 10598.98 करोड़ रुपये के निवेश के लिए मंजूरी दे दी गयी है। इस परियोजना को एनटीपीसी के रामागुंडम स्टेशन के परिसर में उपलब्ध जमीन पर स्थापित किया जाएगा।

कोयला मंत्रालय ने पिछले साल ओडिसा स्थित कोयला के खदान- ‘मंदाकिनी-बी’ को तेलंगाना के इस पावर प्रोजेक्ट के लिए आवंटित कर दिया था। इस खदान के विकास तक एक अंतरिम व्यवस्था, तेलंगाना प्रथम चरण (2×800 मेगावाट) के लिए डब्ल्यूसीएल से कोयला लिंकेज किया जाएगा।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>