बढ़ेगी रात की रौनक, चौबीस घंटे खुलेंगी दुकानें, मॉल और सिनेमा हॉल

Jun 29, 2016
सरकार ने लंबित सुधारों को लागू करने की दिशा में अहम कदम बढ़ाते हुए मॉडल शॉप्स एंड इस्टेब्लिशमेंट विधेयक 2016 के मसौदे को मंजूरी दी है।

जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली। दुकानें, मॉल और सिनेमा हॉल सहित विभिन्न व्यापारिक प्रतिष्ठान अब रोजाना 24 घंटे और सप्ताह के सातों दिन खुल सकेंगे। सरकार ने लंबित सुधारों को लागू करने की दिशा में अहम कदम बढ़ाते हुए मॉडल शॉप्स एंड इस्टेब्लिशमेंट विधेयक 2016 के मसौदे को मंजूरी दी है। केंद्र अब यह विधेयक राज्यों के पास भेजेगा और जो भी प्रदेश सरकार इसे कानून का रूप देगी, वहां दुकानें 24 घंटे खुलने का रास्ता खुल जाएगा। ऐसा होने पर न सिर्फ आम लोगों को सुविधा होगी बल्कि रोजगार के अवसर बढ़ेंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक में इस विधेयक के मसौदे को मंजूरी दी गयी। सरकार ने इस लंबित सुधार को लागू करने की दिशा में ऐसे समय कदम बढ़ाया, जब ब्रिटेन के यूरोपीय संघ से निकलने के फैसले के चलते मुद्रा, पूंजी और शेयर बाजार में उथल-पुथल चल रही है। पिछले हफ्ते सरकार ने प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआइ) नीति उदार बनाने का कदम उठाया था। सरकार का कहना है कि मॉडल बिल से सभी राज्यों में एक समान विधायी प्रावधान हो जाएंगे, जिससे व्यवसाय शुरू करने की प्रक्रिया सरल होगी।

कैबिनेट के फैसले की जानकारी देते हुए वित्त मंत्री अरुण जेटली ने संवाददाताओं से कहा कि कैबिनेट ने मॉडल शॉप्स एंड इस्टेब्लिशमेंट (रेगुलेशन ऑफ एम्प्लायमेंट एंड कंडीशन ऑफ सर्विस) बिल, 2016 के मसौदे को मंजूरी दी। इस विधेयक को अब राज्यों तथा केंद्र शासित प्रदेशों के पास भेजा जाएगा ताकि वे अपनी जरूरतों के अनुसार या तो इस विधेयक को अपना सकें या इसके प्रावधानों में संशोधन कर इसे स्वीकार कर सकें।

मॉडल शॉप बिल के अहम बिंदु

– 10 या अधिक कर्मचारियों वाली दुकानें और प्रतिष्ठान ही इसके दायरे में आएंगे।

– दुकानें और प्रतिष्ठान 365 दिन तथा चौबीस घंटे खुले रह सकेंगे।

– महिलाओं को रात्रि शिफ्ट में भी काम करने की अनुमति होगी

– महिलाओं को परिवहन सुविधा देनी होगी, लेडीज टॉयलट भी अनिवार्य

– महिलाओं के साथ किसी प्रकार का भेदभाव नहीं किया जाएगा।

– क्रैच और फ‌र्स्ट एड तथा कैंटीन की सुविधा भी देनी होगी।

– ऐसे प्रतिष्ठानों के ऑनलाइन पंजीकरण का प्रावधान

– राष्ट्रीय छुट्टियों के साथ पांच पेड फेस्टिवल लीव भी देनी होगी

– एक तिमाही में अधिकतम 125 घंटे के ओवरटाइम की अनुमति

– हर दिन अधिकतम 9 घंटे और हफ्ते 48 घंटे कार्य का नियम

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>