नीलामी में बिका विजय माल्या का लक्जरी जेट

Aug 25, 2016
नीलामी में बिका विजय माल्या का लक्जरी जेट
एसजीआइ कॉमेक्स नाम की कंपनी ने इस एयरबस विमान को 27.39 करोड़ रुपये (41 लाख डॉलर) में खरीदने का दावा किया है।

मुंबई। आखिरकार सेवाकर विभाग उद्योगपति विजय माल्या के निजी लक्जरी जेट को नीलाम करने में कामयाब हो गया। एसजीआइ कॉमेक्स नाम की कंपनी ने इस एयरबस विमान को 27.39 करोड़ रुपये (41 लाख डॉलर) में खरीदने का दावा किया है।

यह नीलामी 18 अगस्त को हुई थी। नीलामी में मिली कीमत विमान की रिजर्व प्राइस का करीब छठा हिस्सा है। इससे पहले 30 जून को हुई नीलामी में 152 करोड़ रुपये की रिजर्व प्राइस के मुकाबले दुबई की एक कंपनी ने सिर्फ एक करोड़ रुपये की बोली लगाई थी।

विभाग की ओर से यह नीलामी माल्या की बंद पड़ी किंगफिशर एयरलाइंस पर बकाया 800 करोड़ रुपये का सेवाकर वसूलने के लिए की गई। कंपनी के दावे के उलट एक सेवाकर अधिकारी ने कहा कि विभाग को 27 करोड़ रुपये की बोली बहुत कम है। इस बोली पर अंतिम निर्णय केंद्रीय उत्पाद एवं सीमाशुल्क बोर्ड यानी सीबीईसी करेगा।

करीब 9,000 करोड़ रुपये के लोन डिफॉल्टर माल्या के विमान की इस नीलामी को मुंबई एयरपोर्ट ने बॉम्बे हाई कोर्ट में चुनौती दी थी। एयरपोर्ट की अर्जी में कहा गया था कि इस जेट पर हवाई अड्डा शुल्क के रूप में बड़ी राशि बकाया है। 22 अगस्त को आए हाई कोर्ट के आदेश के मुताबिक विमान को उड़ान योग्य यानी एयरवर्दी बनाने के लिए एसजीआइ कॉमेक्स को टैक्स, हैंगरचार्ज और अन्य शुल्क चुकाने होंगे।

इस कंपनी के चेयरमैन जीएस श्रीवास्तव ने कहा कि विमान को आर्ट पिलिग्रिमेज वेंचर में तब्दील किया जाएगा। अब इसका इस्तेमाल प्राइवेट कैरियर के रूप में नहीं होगा। इसके बजाय एयरक्राफ्ट का उपयोग धार्मिक स्थानों में तीर्थयात्रा के लिए किया जाएगा। इस विमान को उड़ने लायक बनाने पर कंपनी 23.5 करोड़ रुपये (35 लाख डॉलर) की राशि और खर्च करेगी।
किंगफिशर ब्रांडों की नीलामी
माल्या की एयरलाइंस पर बकाया नौ हजार करोड़ के कर्ज को वसूलने के लिए सत्रह बैंकों का कंसोर्टियम गुरुवार को किंगफिशर के ब्रांडों और लोगो की फिर से नीलामी करेगा। इसके तहत एयरलाइंस का किंगफिशर लोगो और एक समय बेहद मशहूर रही इसकी टैगलाइन "फ्लाई द गुड टाइम्स" शामिल होंगे।

साथ ही फ्लाइंग मॉडल, फनलाइनर, फ्लाई किंगफिशर और फ्लाइंग बर्ड डिवाइस भी नीलामी का हिस्सा होंगे। इस बार बैंकों ने इनकी रिजर्व कीमत भी कम करके 330 करोड़ रुपये तय की है।

भारतीय स्टेट बैंक की अगुआई वाला कंसोर्टियम यह नीलामी साढ़े ग्यारह बजे से शुरू करेगा। इससे पहले कंसोर्टियम की ओर से अप्रैल में भी ये ब्रांड और लोगो नीलाम करने की कोशिश की गई थी। मगर उस वक्त 366.70 करोड़ की रिजर्व प्राइस को देखते हुए कोई खरीदार ही नहीं आया।

जब माल्या की एयरलाइन के अच्छे दिन चल रहे थे, तब कंसल्टेंसी फर्म ग्रांट थॉर्नटन ने किंगफिशर ब्रांड की कीमत 4,000 करोड़ रुपये लगाई थी।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>