मिशन कश्मीर पर बोले गृहमंत्री राजनाथ सिंह, बिन कश्मीर भारत है अधूरा

Aug 25, 2016
मिशन कश्मीर पर बोले गृहमंत्री राजनाथ सिंह,  बिन कश्मीर भारत है अधूरा
कश्मीर में हालात का जायजा लेने के लिए गृहमंत्री इस समय घाटी के दौरे पर हैं।

नई दिल्ली। मिशन कश्मीर के आखिरी दिन गृहमंत्री राजनाथ सिंह और सीएम महबूबा मुफ्ती ने एक साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस की। गृहमंत्री ने कहा कि उन्होंने 20 प्रतिनिधमंडल से बातचीत की। सभी लोगों ने एक सुर में कहा कि धरती की जन्नत कश्मीर में आम लोग शांति चाहते हैं।

देशभर में आम कश्मीरियों की समस्या के समाधान के लिए सरकार बहुत जल्द एक नोडल अफसर नियुक्त करेगी। राजनाथ सिंह ने कहा कि बहुत जल्द ही एक सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल घाटी का दौरा करेगा। जम्मू-कश्मीर में शांति बहाली के लिए 10 हजार एसपीओ की भर्ती की जाएगी। गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने सुरक्षाबलों से संयम बरतने की सलाह दी।

राजनाथ सिंह ने कहा कि वो पहले भी कह चुके हैं कि कश्मीर के युवाओं के हाथ में कलम, किताब और कंप्यूटर की जरूरत है। उनके हाथों में बंदूक और पत्थर नहीं होने चाहिए। कुछ लोग युवाओं को गुमराह कर रहे हैं जिन्हें चिन्हित करने की आवश्यकता है। राजनाथ सिंह ने कहा कि केंद्र का एक सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल घाटी के दौरे पर आना चाहता है इसके लिए उन्होंने सीएम महबूबा मुफ्ती से पूरी तैयारी करने को कहा है।

जम्मू-कश्मीर की सीएम महबूबा मुफ्ती ने कहा कि राज्य की 95 फीसद आबादी शांति चाहती है। कुछ लोग हिंसा के रास्ते पर चल रहे हैं। लेकिन उन्हें देश की मुख्य धारा में जोड़ने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि कुछ गुमराह लोग औरतों और बच्चों को ढाल बनाकर सेना और सुरक्षाबलों पर हमला करते हैं।

इससे पहले कल उनसे राजनीतिक दलों के साथ-साथ आम लोगों ने भी मुलाकात की। गृहमंत्री ने स्पष्ट संदेश दिया कि केंद्र सरकार संविधान के दायरे में बातचीत करने को तैयार है। सरकार आम कश्मीरियों के सुख-दुख में बराबर की भागीदार है। लेकिन हिंसा की इजाजत नहीं दी जा सकती है। गृहमंत्री का ये बयान ट्विटर पर भी सुर्खियां बटोर रहा है।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>