बाढ़ की चपेट में कई राज्य, असम में मृतकों की सख्या 34 पहुंची

Aug 02, 2016
उत्तर पूर्व के कई राज्यों में हो रही भारी बारिश के चलते यहां बाढ़ की सी स्थिति बनी हुई है।

नई दिल्ली (जेएनएन/पीटीआई)। देश के कई राज्यों में हो रही बारिश कई राज्यों के लिए आफत बनकर टूटी है। असम और बिहार में बाढ़ की स्थिति लगातार गंभीर बनी हुई है। दोनों राज्यों में बाढ़ से मरने वालों की सख्या 72 पहुंच गई है। उधर हिमाचल, उत्तराखंड में बारिश लगातार हो रही है। भूस्खलन की वजह से कई स्थानों पर भूस्खलन होने से सड़के बंद हो गई हैं।

असम: लाखों लोग प्रभावित

राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के अनुसार, ढुबरी जिले के बिलासीपारा और छापर में दो लोगों की जान चली गई, जबकि बारपेटा जिले के बारपेटा कस्बे में एक व्यक्ति की मौत हो गई। राज्य के 21 जिलों के 2 हजार से ज्यादा गांवों के करीब 17 लाख लोग बाढ़ प्रभावित हुए हैं और राज्य में मरने वालों की सख्या 34 पहुंच गई। राज्य में अभी तक बाढ़ में डूबने से 13 गैंडों की मौत हो चुकी है।

बिहार: मृतकों का आंकडा 38 पहुंचा

राज्य में 12 जिलों में 28.20 लाख लोग बाढ़ से प्रभावित हैं। कटिहार से 12 लोगों के मरने की खबर है और इन्हें मिलाकर राज्य में मरने वालों का आंकडा 38 पहुंच गया है। नेपाल के तराई क्षेत्र में भारी बारिश से भागलपुर के कहलगांव में गंगा नदी खतरे के निशान से उपर बह रही है।

उत्तराखंड में, भारी बारिश के चलते अभी भी 100 से ज्यादा मार्ग बंद

देहरादून के निकट भूस्खलन के चलते पांच दिन से गंगनानी समेत विभिन्न स्थानों पर बाधित गंगोत्री राजमार्ग के कारण उत्तरकाशी जिला प्रशासन की सांसें अटकी हैं। सोमवार को पूरा प्रशासनिक अमला मौके पर जुटा रहा, लेकिन मार्ग नहीं खुल पाया। इस मार्ग पर 150 वाहन और कांवड़ियों समेत 500 से ज्यादा लोग फंसे हुए हैं। इस बीच भारी बारिश के चलते केदारनाथ राजमार्ग और पैदल मार्ग बंद होने से यात्रियों को अगले आदेश तक गौरीकुंड में ही रोक लिया गया। मौसम की बाधा के चलते पाकिस्तान से आया श्रद्धालुओं का दल केदारनाथ नहीं जा पाया। बदरीनाथ व यमुनोत्री राजमार्गों के खुलने और बंद होने का सिलसिला जारी है। रुद्रप्रयाग में स्कूल बस पर पहाड़ी से गिरे पत्थर की चपेट में आकर दो बच्चे घायल हो गए। टिहरी के नैनबाग में दो भवन क्षतिग्रस्त हो गए। वहीं, कैलास मानसरोवर यात्र मार्ग भी बंद चल रहा है। राज्यभर में ग्रामीण इलाकों में सौ से ज्यादा मार्ग बंद चल रहे हैं।

उत्तर प्रदेश: पूरे सूबे में सक्रिय हुआ मानसून

पूरे उत्तर प्रदेश में सक्रिय मानसून के चलते पिछले 24 घंटे के दौरान राज्य में अनेक स्थानों पर मेघ जमकर बरसे। इस बारिश और बांधों से पानी छोड़े जाने के कारण राप्ती, घाघरा, बूढी राप्ती और रोहिन समेत अनेक नदियों का कहर जारी है। नदियों में बाढ़ आने से बाराबंकी, बहराइच, बस्ती, बलरामपुर, सिद्धार्थनगर, लखीमपुर खीरी और गोरखपुर समेत कई जिलों के सैकड़ो गांवों में रहने वाले लाखों लोग बाढ से प्रभावित हुएं हैं। हजारों हेक्टेयर फसल पानी में डूब गयी है।

भोपाल में आज भारी बारिश की चेतावनी, स्कूलों में छुट्टी घोषित

सावन के दूसरे सोमवार को राजधानी भोपाल में जमकर बारिश देर रात तक होती रही हालत ये हुई कि 3 साल बाद कलियासोत, भदभदा व केरवा डेम के गेट एक साथ खोलने पड़े। उधर, लगातार बारिश के चलते मंगलवार को सभी सरकारी और निजी स्कूलों में अवकाश रहेगा मौसम विज्ञानियों के अनुसार अरब सागर से लगातार आ रही नमी के चलते बारिश के लिए अनुकूल सिस्टम बना हुआ है मौसम केंद्र के निदेशक डॉ.अनुपम काश्यपि के मुताबिक ४ अगस्त तक भोपाल समेत होशंगाबाद, हरदा, रायसेन, सीहोर व सागर में भारी बारिश की संभावना है

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>