जम्मू-श्रीनगर में बारिश-बाढ़ ने मचाई तबाही, तीन की मौत

Aug 07, 2016
तवी नदी और चिनाब के अलावा अन्य नदियां व नाले उफान पर हैं। कई क्षेत्र मुख्य कस्बों व शहरों से कट गए हैं।

राज्य ब्यूरो, जम्मू। बारिश और बाढ़ ने जम्मू संभाग में तबाही मचाते हुए तीन लोगों की जान लील ली। वहीं पहाड़ी क्षेत्रों में भूस्खलन होने से जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग बंद कर दिया गया। वहीं तवी नदी और चिनाब के अलावा अन्य नदियां व नाले उफान पर हैं। कई क्षेत्र मुख्य कस्बों व शहरों से कट गए हैं। सैकड़ों मकान ढह गए हैं। धान सहित अन्य फसलें बाढ़ में बह गईं। बिजली ढांचे के अलावा सड़कों को नुकसान पहुंचा है।

शनिवार रात करीब 12 बजे शुरू हुई बूंदाबांदी ने ढाई बजे तेज रफ्तार पकड़ ली। रविवार दोपहर तीन बजे तक बारिश जारी रही। पुरमंडल के देयोन क्षेत्र में भूस्खलन के कारण एक महिला की मौत हो गई। उसकी पहचान दर्शना देवी के रूप में हुई है। वह सुबह शौच के लिए घर से निकली थी कि अचानक पहाड़ी की मिट्टी खिसकी और नीचे दब गई। सांबा की डिप्टी कमिश्नर शीतल नंदा ने इसकी पुष्टि की है। मंडाल में मकान की छत गिरने से 85 वर्षीय फतेह चंद की मौत हो गई।

पढ़ेंः

मकान धरासायी

डोडा जिले के शरोरा गांव में एक मकान गिरने से एक व्यक्ति मलबे में दब गया। उसकी मौके पर ही मौत हो गई, जबकि चार लोग घायल हो गए। मृतक की पहचान दोस्त मुहम्मद के रूप में हुई है। पुलिस ने घायलों को उप जिला अस्पताल भद्रवाह में भर्ती करवाया है। वहीं कठुआ जिले के जाफड़ में मकान की छत गिरने से तीन लोग घायल हो गए। उन्हें राजकीय मेडिकल कॉलेज भर्ती जम्मू करवाया गया है। हीरानगर में मकान की छत गिरने से तीन लोग जख्मी हो गए। कठुआ जिले के ही बिलावर में तेज बहाव से दो कर्मी फंस गए जिन्हें एसडीआरएफ की टीम ने बचाया। कई जगहों पर भूस्खलन होने की सूचनाएं हैं। कटड़ा-जम्मू रेलवे ट्रैक पर रामनगर स्टेशन के पास ट्रैक पर चट्टानें आ गई जिसे बाद में हटा दिया गया।

पढ़ेंः

कई सड़कें क्षतिग्रस्त

बारिश से कई सड़कें क्षतिग्रस्त हो गई हैं। डीसी कठुआ रमेश कुमार ने बताया कि प्रशासन बाढ़ से पैदा हुए हालात पर पूरी नजर रखे हुए हैं। जम्मू संभाग में नदियां भी उफान पर हैं। तवी नदी और चिनाब में पानी का तेज बहाव होने के कारण कई क्षेत्र प्रभावित हुए। सूर्य चक्क में निक्की तवी पर बना पुल घंटों बंद रखा गया। दोनों ओर आवाजाही बंद होने से लोग परेशान रहे। चिनाब में जलस्तर खतरे के निशान से ढाई फुट ऊपर था।

राजमार्ग बंद कई वाहन फंसे

वहीं जम्मू के डिप्टी कमिश्नर सिमरनदीप सिंह ने सभी को अलर्ट किया है। खेरी के अलावा रामबन में भूस्खलन होने से राजमार्ग बंद कर दिया गया। कई वाहन राजमार्ग में फंस गए हैं। कठुआ जिले के बनी-बसोहली मुख्य मार्ग यातायात के लिए बंद किया गया। बसोहली-कठुआ मार्ग बसंतपुर के निकट पस्सी गिरने से कई घंटों बंद रहा। चड़वाल के कुरवाल इलाके के गांवों की जमीनों के बचाव के लिए बनाया बांध का लगभग चार सौ मीटर हिस्सा बह गया। जमीन के साथ आलम दीन का घर भी गिर गया।

पढ़ेंः

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>