पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर भी जम्मू-कश्मीर का ही हिस्साः पीएम मोदी

Aug 12, 2016
ऑल पार्टी मीटिंग में विपक्ष ने केंद्र को कश्मीर के मुद्दे को सुलझाने के लिए एक रोड मैप तैयार करने की सलाह दी।

नई दिल्ली। कश्मीर के मौजूदा हालात पर चर्चा करने के लिए सरकार द्वारा बुलाई गई सभी दलों की बैठक खत्म हो गई है। बैठक की अध्यक्षता खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने की। बैठक में विपक्ष ने कश्मीर में स्थिति सामान्य बनाने के लिए विश्वास बहाली के कदम उठाने की मांग की। इसके अलावा नागरिक इलाकों से आफ्स्पा को समाप्त करने सभी संबंधित पक्षों जिसमें अलगाववादी भी शामिल हैं, से वार्ता करने की भी मांग विपक्ष ने की।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) जम्मू-कश्मीर का ही भाग है। उन्होंने कहा कि सरकार को विदेशों में रह रहे पीओके के निर्वासित लोगों से संपर्क करना चाहिए और उनसे बात की जानी चाहिए। पीएम ने कहा, जम्मू-कश्मीर के चार हिस्से हैं, कश्मीर, लद्दाख, जम्मू और पाकिस्तान अधिकृति कश्मीर। उन्होंने बलूचिस्तान सहित पाकिस्तान के अन्य हिस्सों में हो रहे मानवाधिकार उल्लंघन का भी जिक्र किया।

पढ़ेंः

कश्मीर के मुद्दे पर ऑल पार्टी मीटिंग में दो बड़े फैसले लिए गए हैं। एक यह कि कोई भी ऑल पार्टी डेलिगेशन जम्मू-कश्मीर नहीं जाएगा और दूसरा यह कि इस मामले में सभी जिम्मेदार लोगों से बात की जाएगी। मीटिंग के बाद सीताराम येचुरी ने कहा कि हमने अपने सुझाव दे दिए हैं और गृह मंत्री ने इस बात की आश्वस्तता दी है कि सभी सुझाव संज्ञान में लिए जाएंगे।

बैठक में सभी दलों के नेता पहुंचे, जिनमें सतीश मिश्रा, डेरेक ओ ब्रायन, सुखदेव सिंह ढिंढसा, सुदीप बंदोपाध्याय, शरद यादव, दुष्यंत चौटाला, सीताराम पासवान, अनंत कुमार, कर्ण सिंह, डी राजा, प्रेमचंद गुप्ता, तारिक अनवर, प्रफुल पटेल आदि शामिल थे।

पढ़ेंः

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>