पठानकोट को लेकर एनआइए प्रमुख के बयान पर विवाद

Jun 03, 2016
एनआइए प्रमुख शरद कुमार द्वारा कथित तौर पर पाकिस्तान सरकार को पठानकोट हमले में क्लीन चिट देने पर विवाद बढ़ गया है।

नई दिल्ली, प्रेट्र। पठानकोट हमले को लेकर राष्ट्रीय जांच एजेंसी प्रमुख के बयान से विवाद उत्पन्न हो गया है। एनआइए प्रमुख शरद कुमार ने एक टीवी चैनल को दिए साक्षात्कार में कथित तौर पर पाकिस्तान सरकार को पठानकोट हमले में क्लीन चिट दे दी है। अपने साक्षात्कार में उन्होंने कहा, ‘इस बात के कोई साक्ष्य नहीं हैं कि पाकिस्तान सरकार या उसकी एजेंसी पठानकोट हमले को अंजाम देने में जैश या मसूद अजहर की मदद कर रही थी।’

ये भी पढ़ें :-  यूपी में 5 वर्षों से अखिलेश सीएम हैं, फिर क्यों पूछते हैं, अच्छे दिन कब आएंगे-अमित शाह

हालांकि, बाद में एनआइए ने एक बयान जारी कर इस बात का खंडन कर दिया कि कुमार ने इस तरह की कोई बात कही है। जांच एजेंसी ने कहा कि उनके बयान को गलत तरीके से उद्धृत किया गया है।

पढ़ेंः

इस बीच, विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने शुक्रवार को सरकार का रुख स्पष्ट करते हुए कहा कि पठानकोट हमले में पाकिस्तानी नागरिकों की भागीदारी को लेकर किसी प्रकार का संदेह नहीं है। उन्होंने कहा कि एयरबेस पर हमले की जांच अभी चल ही रही है। पाकिस्तानी अधिकारियों को हम इस बात के पर्याप्त प्रमाण दे चुके हैं कि हमले की साजिश रचने वाले, उन्हें समर्थन देने वाले और उसे अंजाम देने वाले उनके ही देश के थे। हम फिलहाल पाकिस्तान के जवाब का इंतजार कर रहे हैं।

ये भी पढ़ें :-  सांप्रदायिक ताकतों को देश से हटाने के लिए कांग्रेस से मजबूत गठबंधन किया है: अखिलेश

कांग्रेस का सरकार पर हमला

इस प्रकरण ने कांग्रेस को सरकार पर हमले का मौका दे दिया। पार्टी प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने सरकार पर आतंकवाद के खिलाफ भारत की लड़ाई को कमजोर करने का आरोप लगाया। पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा कि एनआइए प्रमुख खुद ही पाकिस्तान और उसकी एजेंसियों को क्लीन चिट दे रहे हैं। दूसरी तरफ 2008 के मुंबई हमले के समय संप्रग सरकार गेंद को पाकिस्तान के पाले में डालने में सफल रही थी।

पढ़ेंः

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected