शाह ने कहा, अभिव्यक्ति की आजादी के नाम पर राष्ट्रवाद पर सवाल

Aug 22, 2016
अमित शाह ने कहा कि राष्ट्रवाद के खिलाफ दुष्प्रचार को अभिव्यक्ति की आजादी नहीं माना जा सकता। उन्‍होंंने कहा कि अब ऐसा फैशन हो गया है।

मंगलूर (पीटीआई)। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा है कि अभिव्यक्ति की आजादी के नाम पर राष्ट्रवाद पर सवाल उठाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि राष्ट्रवाद के खिलाफ दुष्प्रचार को अभिव्यक्ति की आजादी नहीं माना जा सकता। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि आजकल राष्ट्रवाद पर सवाल उठाना कुछ लोगों के लिए फैशन हो गया है। ऐसा विभिन्न स्थानों पर किया जा रहा है और नए सिद्धांत बनाए जा रहे हैं।

शाह भाजपा के ‘तिरंगा यात्रा’ और ‘बलिदान स्मरण’ अभियान के तहत रविवार को यहां लोगों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कुछ लोग सोशल मीडिया में यह भियान भी चला रहे हैं कि राष्ट्रवाद जरूरी है या नहीं। ऐसे लोगों को यह मालूम होना चाहिए कि राष्ट्रवाद और देशभक्ति के प्रति प्रेम नहीं होता तो हमें आजादी नहीं मिलती।

उन्होंने कहा कि संपूर्ण देश को देशभक्ति कायम रखने के लिए एकजुट होना चाहिए। भगत सिंह, राजगुरु, सुखदेव और कई अन्य ने देश के लिए बलिदान दिया। शाह ने युवाओं से देश का इतिहास पढ़ने की अपील की ताकि वे जानें कि देश के लिए कितनों ने अपनी जान दी। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि देश के लिए जीना इस यात्रा का संदेश है।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>