पुणे: लवासा घाटी में भूस्खलन, 200 पर्यटक फंसे

Aug 05, 2016
लवासा में भारी बारिश के कारण हुए भूस्‍खलन ने मार्ग को अवरुद्ध कर दिया है और इस वजह से कार्पोरेशन ने पर्यटकों से अपील किया है कि कुछ दिनों तक यहां आने का कार्यक्रम स्थगित कर दें

लवासा (मिड-डे)। बुधवार को लगातार बारिश के कारण एकांत होटल रिसार्ट के निकट दास्वे घाट के ढलाव से मिट्टी की बहुतायत मात्रा के गिरने से पुणे-लवासा मार्ग अवरुद्ध हो गया है। मार्ग को खोलने का काम जारी है लेकिन मार्ग के खुलने तक करीब 200 पर्यटक लवासा में फंस गए हैं। लगातार होने वाली बारिश ने रास्ते को खोलने के कार्य में भी बाधा बन रही है। कोई और रास्ता नहीं होने के कारण मेहमानों को लवासा के चार-पांच बड़े होटलों में रुकना पड़ रहा है।

एक पर्यटक ने ‘एक वर्कशॉप में भाग लेने के लिए हम बुधवार को लवासा आए थे। शाम को हमें लौटना था लेकिन भूस्खलन के कारण हमें होटल में ही रुकना पड़ा। मलबा हटते ही हम निकल जाएंगे।‘

वहीं के डिस्ट्रिक्ट कलेक्टर, राजेंद्र मुथे ने कहा, ‘हमें पता चला कि लवासा में दो जगहों पर भूस्खलन हुआ है जिसके कारण मार्ग अवरुद्ध हो गया है। मलबा हटाने के काम में अधिकारियों की मदद के लिए हमने अपनी टीम भेज दी है। अब तक किसी तरह के नुकसान की सूचना नहीं है।‘

लवासा के एक प्रवक्ता ने कहा, ‘लवासा व उससे जुड़े क्षेत्रों में पिछले कुछ दिनों से भारी बारिश हो रही है। इसकी वजह से सड़कों पर छोटे-छोटे भूस्खलन हो रहे हैं। हालांकि इस वजह से अब तक जान-माल के नुकसान की कोई सूचना नहीं है। जाम हुए सड़कों से लवासा की इमरजेंसी रेस्पांस टीम मलबा हटाने का काम कर रही है। लवासा कार्पोरेशन की इमरजेंसी रेस्पांस टीम उचित तरीके से लैस है और रात दिन काम करती है ताकि मामले को जल्दी से जल्दी सुलझाया जा सके।

लवासा कार्पोरेशन ने पर्यटकों से अपील किया है कि कुछ दिनों तक वे यहां आने का कार्यक्रम स्थगित कर दें।

मौसम की वजह से मलशेज घाट क्षेत्र और भोर तालुक के वरांदा घाट क्षेत्र में भी भूस्खलन के मामले देखे गए हैं। इन दोनों घटनाओं से भी किसी तरह के नुकसान की सूचना नहीं है।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>