BCCI पर लोढ़ा की सिफारिशें अवैध और असंवैधानिक: जस्टिस काटजू

Aug 07, 2016
सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश मार्कंडेय काटजू ने बीसीसीआई पर लोढा कमेटी की सिफारिशों को अवैध और असंवैधानिक बताया।

नई दिल्ली, प्रेट्र। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) में सुधार को लेकर सुप्रीम कोर्ट की तरफ से दिए गए फैसले पर रविवार को जस्टिस मार्कंडेय काटजू ने तीखा हमला करते हुए उन सुधारों को असंवैधानिक और अवैध करार दिया है।

सुप्रीम कोर्ट के रिटार्यड जस्टिस काटजू को बीसीसीआई ने लोढ़ा समिति की सिफारिशें लागू करने के लिए सलाहकार के तौर पर नियुक्त किया था। काटजू ने बीसीसीआई को यह भी सलाह दी है कि वह सुप्रीम कोर्ट में बड़े बैंच के पास रिव्यू पेटिशन दाखिल करे ना कि वह उस लोढ़ा समिति से मिले, जिसके साथ बैठक के लिए 9 अगस्त तय की गई है। उन्होंने उस पैनल को निरर्थक और अमान्य करार दिया।

जस्टिस काटजू ने कहा, “सुप्रीम कोर्ट ने जो कुछ किया वह असंवैधानिक और अवैध है। इससे संविधान के सिद्धांत का उल्लंघन हुआ है। हमारे संविधान के अंतर्गत हमारे पास विधायिका, कार्यपालिका और न्यायपालिका है। इनके कार्य में काफी भिन्नता है। विधायिका का काम है कानून को बनाना। अगर न्यायपालिका काम बनाना शुरू करता है तो यह बेहद खतरनाक मिसाल होगा।”

ये भी पढ़ें-

उन्होंने कहा, “मैने बीसीसीआई को यह सलाह दी है कि वह रिव्यू पेटिशन बड़े बेंच के पास दाखिल करें। इस केस में सुप्रीम कोर्ट ने बीसीसीआई को सजा देने के लिए एक कमेटी (लोढ़ा कमेटी का संदर्भ) को आउटसोर्स किया था।”

जस्टिस काटजू 2006 से 2011 तक सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश के अलावा भारतीय प्रेस परिषद के अध्यक्ष भी रह चुके हैं। वह दिल्ली मद्रास हाईकोर्ट के पूर्व मुख्य न्यायाधीश तथा इलाहाबाद हाईकोर्ट के कार्यकारी मुख्य न्यायाधीश भी रह चुके हैं।

ये भी पढ़ें-

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>