किडनी रैकेट: डोनर को कमीशन का लालच देकर बनाई चेन

Jun 10, 2016
किडनी रैकेट मामले में नया खुलासा हुआ है। किडनी रैकेट के मुख्य आरोपी टी. राजकुमार राव ने पुलिस पूछताछ में बताया कि किडनी की जरूरत का विज्ञापन देने पर जब उनसे कोई डोनर संपर्क करता था

नई दिल्ली, (जागरण संवाददाता)। दिल्ली से लेकर कोलकाता और ओडिशा तक चलने वाला किडनी रैकेट कमीशन के दम पर फलफूल रहा था। दलाल डोनर को कमीशन का लालच देकर ऐसे लोगों की तलाश का जिम्मा देते थे। जैसे ही उन्हें नया डोनर मिल जाता था, वे उसे भी कमीशन का लालच देते थे। उन्होंने डोनर के जरिये ही ऐसे लोगों की चेन बना ली थी।

देवाशीष और उसकी पत्नी मोमिता के बीच रुपयों को लेकर अगर विवाद नहीं होता तो ये गोरखधंधा चल रहा होता। किडनी रैकेट के मुख्य आरोपी टी. राजकुमार राव ने पुलिस पूछताछ में बताया कि किडनी की जरूरत का विज्ञापन देने पर जब उनसे कोई डोनर संपर्क करता था तो वे उसकी किडनी निकाल कर बेच देते थे। इसके बाद वे उस डोनर को लालच देते थे कि अगर वह किसी और को भी किडनी डोनेट करने के लिए तैयार कर लेता है तो कमीशन के तौर पर 50 हजार से लेकर एक लाख रुपये तक मिलेंगे। लालच में डोनर नए व्यक्ति की तलाश में जुट जाता था। ऐसा करके उन्होंने कोलकाता, चेन्नई और उत्तर प्रदेश के कई शहरों में जाल फैलाया और फर्जी दस्तावेज बनाकर किडनी बेच दी।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>