भारत की मदद से बने सलमा डैम को अफगान जनता को सुपुर्द करेंगे मोदी

Jun 02, 2016

नई दिल्ली (जागरण ब्यूरो)। अफगानिस्तान में अपनी विकासोन्मुखी कूटनीति को आगे बढ़ाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस शनिवार को वहां के एक प्रमुख शहर हेरात पहुंच रहे हैं। मोदी वहां भारत की मदद से बन रहे सलमा डैम को जनता को सौंपेंगे। मोदी की पिछले छह महीने में यह दूसरी अफगान यात्रा होगी। दिसंबर, 2015 में मोदी काबुल में भारत की मदद से निर्मित संसद भवन को वहां की सरकार को सौंपने के लिए एक दिन के लिए गए थे। संसद भवन और सलमा डैम भारत की मदद से अफगान में बन रहे दो सबसे बड़ी परियोजनाएं हैं।

मोदी की यह यात्रा अफगानिस्तान में भारत की छवि और मजबूत करेगी। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप के मुताबिक, भारत हमेशा से एक मजबूत अफगानिस्तान देखना चाहता है। यह भारतीय कूटनीति का अहम हिस्सा है कि वहां की जनता के विकास के लिए हरसंभव मदद की जाए। इस वजह से ही अफगानिस्तान के लोग भारत को बहुत पसंद करते हैं। भारत आगे भी इस तरह की परियोजनाओं में मदद करेगा। हाल ही में भारत ने दो अरब डॉलर की नई मदद देने का एलान किया है।

पिछले दिनों ही भारत, ईरान और अफगानिस्तान के बीच त्रिपक्षीय समझौता हुआ है। इसके तहत भारत ईरान के चाबहार पोर्ट से अफगानिस्तान के जारांज तक सड़क और रेल मार्ग बनाने वाला है। बहरहाल, सलमा डैम को अब अफगान-भारत फ्रेंडशिप डैम के नाम से जाना जाएगा।

इसे बनाने में 1500 भारतीय और अफगानी इंजीनियरों ने कई वर्षो तक काम किया है। तालिबान ने इसके निर्माण को बाधित करने के लिए हर तरह की बाधाएं खड़ी कीं। कई बार भारतीय इंजीनियरों पर हमला भी किया गया। कई भारतीयों की इसमें मौत भी हुई है। भारत इस डैम के निर्माण में 30 करोड़ डॉलर खर्च कर रहा है। इससे 42 मेगावाट की बिजली बनेगी जिससे आसपास के इलाकों में विकास का काम हो सकेगा। इस डैम से सबसे ज्यादा फायदा यहां के किसानों को होगा। माना जाता है कि इस डैम से पूरे इलाके में खुशहाली का नया दौर शुरू होगा। मोदी वहां राष्ट्रपति अशरफ घनी से भी मुलाकात करेंगे।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>