सैर सपाटे से ज्यादा इलाज के लिए सफर करते हैं भारतीय

Jul 07, 2016
सर्वे के मुताबिक सफर पर सबसे अधिक खर्च इलाज के लिए किया जाता है। इसमें सैर सपाटे पर खर्च का नंबर इलाज और शापिंग के बाद है।

जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली।सरकार भले ही घरेलू पर्यटन को बढ़ाने और आकर्षक बनाने के प्रयास कर रही हो, लेकिन आज भी भारतीयों के लिए देश के भीतर सफर का मतलब सैर सपाटे से ज्यादा इलाज अधिक है। बीते एक साल की अवधि को लेकर भारतीय परिवारों के बीच में कराए एक सरकारी सर्वे के मुताबिक लोग जितना सफर करते हैं उसमें पर्यटन प्रमुख वजह नहीं है।

केंद्रीय सांख्यिकी मंत्रालय की तरफ से कराए गए इस सर्वे के आंकड़ों में एक साल के भीतर भारतीय परिवारों द्वारा एक रात से अधिक घर से बाहर सफर में बिताने को शामिल किया गया है। इसके मुताबिक 40 फीसद से अधिक लोग स्वास्थ्य संबंधी वजहों से सफर करते हैं। इनमें भी महिलाओं की संख्या पुरुषों से अधिक है। जबकि सैर सपाटे के लिए एक रात से अधिक बाहर रहने वाले लोगों की संख्या 35 फीसद रही है।

ये भी पढ़ें :-  भाजपा की महिला सांसद ने अपनी ही पार्टी के बिधायक को जूतों से पीटा; "वजह को जानकर हैरान रह जायेंगे"

सर्वे के मुताबिक लोगों के सफर करने की तीसरी सबसे बड़ी वजह सामाजिक रही है। इनमें विवाह आदि जैसे पारिवारिक कारण शामिल हैं। इनमें भी सफर करने के मामले में महिलाओं की संख्या पुरुषों से अधिक है। जहां तक सफर के दौरान भारतीय परिवारों के गंतव्य का प्रश्न है इस मामले में उत्तर प्रदेश सबसे आगे रहा है। उत्तर प्रदेश में दूसरे राज्यों से सबसे अधिक 12.7 लाख यात्री एक साल के भीतर आए।

इसके बाद तेलंगाना व आंध्र प्रदेश और इसके बाद राजस्थान का नंबर आता है।खर्च के मामले में भी सबसे अधिक हिस्सा स्वास्थ्य संबंधी सफर पर किया गया है। सर्वे की अवधि के दौरान ऐसे प्रत्येक ट्रिप पर लोगों ने 15336 रुपये व्यय किए। इसके बाद खरीदारी के लिए हुए सफर पर सबसे अधिक खर्च भारतीय परिवारों ने किया। सैर सपाटे पर हुए सफर पर खर्च के मामले में भारतीय परिवार कुछ पीछे रहे हैं और खर्चे की सूची में यह तीसरे स्थान पर आता है।

ये भी पढ़ें :-  शर्मनाक: गौरक्षा के नाम पर दलितों की बेरहमी से की गई पीटाई, घरों में की गई तोड़फोड़

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>