यूएन में पाकिस्‍तान को उसी की भाषा में जवाब देने की तैयारी कर रहा भारत

Aug 19, 2016
भारत ने संयुक्‍त राष्‍ट्र की सलाना बैठकों में पाकिस्‍तान को करारा जवाब देने की तैयारी शुरू कर दी है। इस बार भारत उसी की भाषा में उसे जवाब देने की तैयारी में है।

नई दिल्ली (जयप्रकाश रंजन)। संयुक्त राष्ट्र की सालाना बैठकों में कश्मीर मुद्दा उठा कर भारत को ‘बैकफुट’ पर डालने की कोशिश में जुटे पाकिस्तान को इस बार उसी की भाषा में जवाब दिया जाएगा। हर बार पाकिस्तान कश्मीर पर छाती पीटता रहा है। इस बार कश्मीर में हालात को देखते हुए वह मानवाधिकार के मुद्दे पर भारत को घेरने की तैयारी में जुटा है। इस मंशा को भांपते हुए भारत ने भी बलूचिस्तान व गुलाम कश्मीर में पाक सेना और सरकार की तरफ से चल रही दमनकारी कार्रवाइयों को बेहद जोरदार तरीके से उठाने की तैयारी की है।

विदेश मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक, संयुक्त राष्ट्र की सालाना बैठक तक पाकिस्तान की कोशिश है कि कश्मीर में जारी हिंसा का दौर खत्म न हो। पाकिस्तानी हुक्मरानों ने इसके लिए कश्मीर घाटी में अलगाववादी संगठनों को साफ तौर पर निर्देश दे रखा है। पाकिस्तान ने दूसरे देशों में अपने दूतावासों को भी कश्मीर में जारी हिंसा के बारे में हर तरह की सूचना जुटाने और उसे दूसरे देशों के साथ साझा करने का निर्देश दिया है। पीएम नवाज शरीफ स्वयं एक बड़े दल के साथ यूएन जाने वाले हैं ताकि उच्च स्तर पर इस मुद्दे को वहां उठाया जाए।

मोदी कर सकते हैं भारतीय दल की अगुआई

पाकिस्तान की तैयारी देख कर भारतीय पक्ष भी इस बार की संयुक्त राष्ट्र बैठक को ज्यादा गंभीरता से लेने पर विवश हो गया है। अभी तक विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का इस बार भारतीय दल का नेतृत्व करना लगभग तय था। लेकिन पाक की तैयारी देख संभव है कि फिर पीएम मोदी ही वहां जाएं। सनद रहे कि स्वतंत्रता दिवस के मौके पर मोदी ने अपने भाषण में बलूचिस्तान, गुलाम कश्मीर और गिलगिट का जिक्र किया था। इसे भारत की कूटनीति में एक बहुत बड़ा बदलाव माना जा रहा है। इस बदलाव को पहली बार अंतरराष्ट्रीय स्तर पर रखने का मौका संयुक्त राष्ट्र की आगामी सालाना बैठक में ही मिलेगा। यह काम पीएम मोदी करेंगे तो उसे ज्यादा तवज्जो मिलेगी।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>