31 कंपनियों पर IIT प्‍लेसमेंट ने लगाया प्रतिबंध

Aug 26, 2016
31 कंपनियों पर IIT प्‍लेसमेंट ने लगाया प्रतिबंध
इस साल प्‍लेसमेंट प्रोसेस में हिस्‍सा लेने से आइआइटी ने 31 कंपनियों को ब्‍लैकलिस्‍ट कर दिया।

मुंबई। हेल्थकेयर स्टार्टअप ‘पोर्टिया मेडिकल’ व ऑन डिमांड डिलीवरी सर्विस ‘ग्रोफर्स’ आइआइटी द्वारा उन 31 ब्लैकलिस्टेड कंपनियों में से हैं जिनपर प्लेसमेंट प्रोसेस के लिए प्रतिबंध लगाया गया है। ऑफर लेटर व ज्वाइनिंग डेट में देरी के कारण यह कदम उठाया गया है।

प्रतिबंधित कंपनियों में से अधिकतर स्टार्टअप कंपनियां हैं। पिछले साल जोमैटो पर लगाया गया प्रतिबंध इस वर्ष भी जारी रहेगा। पिछले साल ज्वाइनिंग डेट में देरी करने वाला फ्लिपकार्ट ब्लैकलिस्ट कंपनियों की सूची में नहीं है। इस इ-कॉमर्स कंपनी को केवल चेतावनी वाला एक पत्र भेजा गया। सभी प्रभावित आइआइटी से लिए गए फीडबैक के बाद यह लिस्ट तैयार की गयी थी।

हालांकि इंस्टीट्यूट के प्लेसमेंट पॉलिसी की अवमानना करने वाली कंपनियों के लिए ब्लैकलिस्टिंग हमेशा से किया जाता रहा है पर इस बार यह सूची काफी बड़ी है। रोचक बात यह है कि कुछ स्टार्टअप कंपनियां आइआइटी के पूर्व छात्रों द्वारा ही शुरू किया गया था।

आइआइटी-बॉम्बे से प्लेसमेंट सेल मेंबर ने कहा, ‘हम अभी इस पर काम कर रहे हैं हो सकता है ऐसी ही एक सूची और जारी करने की जरूरत हो। हम टीम व प्लेसमेंट इनचार्ज के साथ चर्चा करेंगे। हो सकता है हम एक लिस्ट निकालें जिसमें कंपनियों को एक साल से अधिक या फिर हमेशा के लिए ब्लैकलिस्ट कर दिया जाएगा। लेकिन अभी हम इस बात पर 100 फीसद मुहर नहीं लगा सकते हैं।‘

ग्रोफर के सीइओ व को-फाउंडर अलबिंदर ढिंढसा व रोडरनर के फाउंडर, मोहित कुमार ने इस बात पर कोई कमेंट नहीं किया।

ब्लैकलिस्टेड कंपनियों की लिस्ट में आइआइटी बॉम्बे ने 9 कंपनियों के नाम दिये हैं जिसपर एक साल के लिए प्रतिबंध लगाया जाएगा। 31 ब्लैक्लिस्टेड कंपनियों में जॉन्सन इलेक्ट्रिक और फंडामेंटल एजुकेशन के नाम भी हैं जो स्टार्टअप कंपनियां नहीं हैं।

ऑल इंडिया प्लेसमेंट कमिटी ने आइआइटी खड्गपुर में 14 अगस्त को यह निर्णय लिया था। कमिटी के सीनियर प्रोफेसर ने बताया, ‘अंतिम समय में इन स्टार्टअप कंपनियों द्वारा ऑफर रद किए जाने से करीब 135 छात्र प्रभावित हुए। इस साल हम जिन स्टार्टअप कंपनियों को ब्लैकलिस्ट कर रहे हैं उन्होंने मुंबई, खड्गपुर और रुड़की से ऑफर्स रद किए थे। अन्य इंस्टीट्यूट की तुलना में इन इंस्टीट्यूट से अधिक छात्रों ने कैंपस प्लेसमेंट के लिए रजिस्ट्रेशन किया था।‘

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>