इस बार धूमधाम से मनाई जाएगी आजादी की सालगिरह

Aug 02, 2016
मोदी सरकार आजादी की 70वीं वर्षगांठ धूमधाम से मनाने जा रही है।

जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली। मोदी सरकार आजादी की 70वीं वर्षगांठ धूमधाम से मनाने जा रही है। हर साल की तरह सिर्फ 15 अगस्त को झंडोत्तोलन के बजाय पूरे देश में 15 दिनों तक विभिन्न कार्यक्रम आयोजित करने का फैसला किया गया है। नौ अगस्त से शुरू होकर 23 अगस्त तक चलने वाले आजादी के उत्सव की थीम "आजादी 70, जरा याद करो कुर्बानी" रखी गई है। संसद भवन परिसर में बुधवार को लोकसभाध्यक्ष सुमित्रा महाजन रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन के अत्याधुनिक रक्षा तकनीक की प्रदर्शनी का उद्घाटन करेंगी।

जश्ने आजादी के कार्यक्रमों के बारे में बताते हुए सूचना-प्रसारण मंत्री वेंकैया नायडू ने कहा कि इस दौरान सभी मंत्री और वरिष्ठ नेता आजादी की लड़ाई से जुड़े जालियांवाला बाग, चौरीचौरा, सेलुलर जेल, साबरमती आश्रम और दांडी जैसे अहम स्थानों पर जाएंगे। इनमें आजादी की लड़ाई से जुड़े महापुरुषों के जन्मस्थल भी शामिल हैं। ऐसे 150 स्थानों का चयन किया गया है।

यह इस तरह किया गया है कि एक राज्य में कम-से-कम दो मंत्रियों का कार्यक्रम जरूर हो। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी किसी स्थान पर जाएंगे। नायडू ने कहा कि स्थानों और नामों की सूची जल्द तय होगी। इसके साथ ही सभी महिला मंत्री 18 अगस्त को रक्षाबंधन के दिन सीमा पर सैनिकों को राखी बांधेंगी।

विशेष रूप से सम्मानः
इन कार्यक्रमों के दौरान शहीदों के परिजनों, स्वतंत्रता सेनानियों, आजाद हिंद फौज के सैनिकों, पूर्व सैनिकों को विशेष रूप से सम्मानित किया जाएगा। इस दौरान "भारत छोड़ो आंदोलन (नौ अगस्त)," "हैदराबाद स्वतंत्रता दिवस (17 सितंबर)" और "गोवा स्वतंत्रता दिवस (19 दिसंबर)" को भी नए सिरे से याद किया जाएगा।

स्थानीय शिल्पी के उत्पादों की प्रदर्शनीः
वेंकैया नायडू के अनुसार, आजादी के जश्न का समां बांधने के लिए कई तरह के आयोजन किए जाएंगे। इस दौरान देश के सभी ऐतिहासिक स्मारक तिरंगे की रोशनी में रोशन होंगे। विभिन्न स्थानों पर स्थानीय शिल्पी के उत्पादों की प्रदर्शनी भी लगाई जाएगी जिनमें खादी उत्पादों को वरीयता दी जाएगी। इस दौरान होने वाले सांस्कृतिक आयोजनों में स्वतंत्रता संग्र्राम की कहानियों और उनके नायकों पर विशेष प्रस्तुति की जाएगी।

कपड़ा मंत्रालय आजादी के रंगों के साथ क्विट इंडिया से लेकर मेक इन इंडिया पर विशेष कार्यक्रम आयोजित करेगा। खेल व युवा कार्यक्रम मंत्रालय नेहरू युवा केंद्रों की मदद से प्रमुख केंद्रों पर युवाओं का कैंडल मार्च आयोजित करेगा। इस दौरान 1947 में जन्मे लोगों को विशेष तौर पर सम्मानित भी किया जाएगा।

भाजपा सांसदों की तिरंगा यात्राः
भाजपा सांसदों को पहले ही 15 अगस्त से 22 अगस्त तक अपने-अपने क्षेत्रों में तिरंगा यात्रा निकालने को कहा गया है। उन्हें दोपहिया पर सवार होकर यह रैली निकालनी है।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>