…तो ऐसे हुआ हिजबुल पोस्टर ब्वॉय बुरहान वानी का एनकाउंटर

Jul 11, 2016
जिस हिजबुल आतंकी बुरहान वानी की मौत पर हंगामा बरपा है, हैरानी की बात ये है कि एनकाउंटर से पहले सुरक्षाबलों को उसकी मौजूदगी के बारे में पता भी नहीं था।

नई दिल्ली। हिजबुल मुजाहिदीन आतंकी बुरहान वानी की मौत के बाद घाटी के कई इलाकों में जो हिंसा भड़की है वो थमने का नाम नहीं ले रही। बुरहान वानी का मारा जाना भले ही सुरक्षाबलों के लिए एक बड़ी कामयाबी हो, लेकिन हकीकत ये है कि शुक्रवार को जिस एनकाउंटर में बुरहान वानी को मार गिराया गया उसकी वहां पर मौजूदगी के बारे में पहले से गुप्तचर एजेंसियों को कोई सूचना ही नहीं थी।

ये भी पढ़ें :-  मदरसों पर इल्जाम लगाने से भड़के ओवैसी, कहा - दिग्विजय खो बैठे हैं अपना मानसिक संतुलन, राहुल मांगे उनसे जवाब

एक अंग्रेजी वेबसाइट के मुताबिक, जम्मू-कश्मीर के शीर्ष स्तर के गुप्तचर अधिकारी ने बताया, “हमें पहले से ये सूचना थी कि कुछ हिजबुल के आंतकी कोकरनाथ इलाके में छिपे हुए हैं। ऐसी भी जानकारी थी कि सरताज अहमद शेख उस आतंकी समूह में वहां पर शामिल है। लेकिन इस बात की कोई जानकारी नहीं थी कि बुरहान वानी भी उन लोगों के साथ है। ऐसे में बुरहान वानी का मारा जाना ये हमारे लिए एक बोनस है।” इस बात की पुष्टि राज्य के पुलिस सूत्रों ने भी की और कहा कि वानी की पहचान उसके एनकाउंटर में मारे जाने के बाद की गई थी।

ये भी पढ़ें :-  जेटली लंदन में टिप्पणी के लिए माफी मांगें : कांग्रेस

ये भी पढ़ें-

गौरतलब है कि सोशल मीडिया पर हजबुल मुजाहिदीन का पोस्टर ब्वॉय बने वानी को एसओजी, राष्ट्रीय रायफल्स और सीआरपीएफ के साझा ऑपरेशन में शुक्रवार को अनंतनाग के कोकरनाग में मार गिराया गया था। वानी के साथ दो और आतंकी भी मारे गए जिनमें से एक सरताज अहमद शेख शामिल था। शेख आतंकी केस में एक साल तक जेल की सजा काटने के बाद दोबारा आतंकी संगठन से जुड़ गया था।

ये भी पढ़ें-

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected