अब 21 हजार तक वेतन वालों को भी मिलेगी ESI की बीमा सुविधा

Sep 07, 2016
अब 21 हजार तक वेतन वालों को भी मिलेगी ESI की बीमा सुविधा
केंद्र सरकार ने ईएसआइ स्कीम के तहत स्वास्थ्य बीमा लाभ पाने के लिए अधिकतम वेतन सीमा को मौजूदा 15 हजार रुपये से बढ़ाकर 21 हजार रुपये कर दिया है।

नई दिल्ली, (जागरण ब्यूरो)। अब 21 हजार रुपये तक मासिक वेतन पाने वाले कर्मचारियों को भी ईएसआइ की स्वास्थ्य सुविधा मिलेगी। कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ईएसआइसी) ने ईएसआइ स्कीम के तहत स्वास्थ्य बीमा लाभ पाने के लिए अधिकतम वेतन सीमा को मौजूदा 15 हजार रुपये से बढ़ाकर 21 हजार रुपये कर दिया है। यही नहीं, इससे अधिक वेतन होने पर भी कर्मचारियों को ईएसआइ सुविधा लेने का विकल्प मिलेगा। ये दोनों निर्णय 1 अक्टूबर से लागू होंगे।

केंद्रीय श्रममंत्री बंडारू दत्तात्रेय की अध्यक्षता में सोमवार को हुई ईएसआइसी बोर्ड की बैठक में ये फैसले लिए गए। दत्तात्रेय ने बताया कि अभी 15 हजार रुपये तक वेतन पाने वाले कर्मचारी ही ईएसआइ के दायरे में आते हैं। इससे अधिक वेतन होने पर ईएसआइ की सुविधा समाप्त हो जाती है। लेकिन अब न केवल वेतन सीमा बढ़ाकर 21 हजार रुपये कर दी गई है, बल्कि कर्मचारियों को यह विकल्प भी दिया गया है कि यदि वे चाहें तो 21 हजार रुपये से अधिक वेतन होने पर भी ईएसआइ की सदस्यता को बरकरार रख सकेंगे।

ये भी पढ़ें :-  मुसलमानों पर ममता की बारिश, 113 मुस्लिम जातियों को OBC कैटिगरी में किया शामिल

दत्तात्रेय के अनुसार इस कदम से 50 लाख अतिरिक्त सदस्यों को ईएसआइ स्कीम के दायरे में लाने में मदद मिलेगी। अभी 2.6 करोड़ कर्मचारी ईएसआइ स्कीम के सदस्य हैं। यदि एक परिवार में औसतन चार सदस्य माने जाएं तो लगभग दस करोड़ लोगों को ईएसआइ के तहत मुफ्त इलाज की सुविधा मिल रही है। वेतन सीमा बढ़ने से अब यह संख्या 3.1 करोड़ तक पहुंच जाएगी।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि सरकार कर्मचारी भविष्य निधि (ईपीएफ) के सदस्यों के लिए भी वेतन सीमा बढ़ाने पर भी विचार कर रही है। अभी ईपीएफ के लिए 15 हजार रुपये मासिक की वेतन सीमा है। बंडारू के मुताबिक कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) के केंद्रीय ट्रस्टी बोर्ड (सीबीटी) की अगली बैठक में इसे बढ़ाने पर विचार किया जाएगा।

ये भी पढ़ें :-  हाफिज के खिलाफ वैश्विक कार्रवाई चाहता है भारत

इससे पहले सरकार ने 1 सितंबर, 2014 को ईपीएफ की वेतन सीमा को 6500 रुपये से बढ़ाकर 15 हजार रुपये मासिक किया था।

उन्नाव, रुद्रपुर कटिहार डिस्पेंसरियों में टेलीमेडिसिन सुविधा

बोर्ड बैठक के बाद दत्तात्रेय ने ईएसआइसी की टेलीमेडिसिन सेवा के पहले चरण को भी लांच किया। जिसके तहत इसके नई दिल्ली स्थित बसईदारापुर के आदर्श अस्पताल को उत्तर प्रदेश की उन्नाव, उत्तराखंड की रुद्रपुर तथा बिहार की कटिहार डिस्पेंसरियों से इलेक्ट्रानिक तरीके से संबद्ध कर दिया गया है। डिजिटल इंडिया के तहत शुरू इस स्कीम के पायलट प्रोजेक्ट में ईएसआइसी के 11 अस्पतालों को अत्याधुनिक परामर्श सुविधाएं आनलाइन तरीके से प्रदान की जाएंगीं।

ये भी पढ़ें :-  डिजिटल बैंकिंग नहीं अपनाया तो इतिहास बन जाएंगे बैंक : आरबीआई

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected