बैंकों को चूना लगाने वाले की 51 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त

Jun 17, 2016
फर्म मेसर्स फ‌र्स्ट लीजिंग कंपनी ऑफ इंडिया के पूर्व एमडी फारूक ईरानी और उनके परिवार की 51 करोड़ की संपत्ति जब्त कर ली गई है।

चेन्नई, (पीटीआई)। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने यहां के फर्म मेसर्स फ‌र्स्ट लीजिंग कंपनी ऑफ इंडिया (एफआइसीआइएल) के पूर्व प्रबंध निदेशक फारूक ईरानी और उनके परिवार की 51 करोड़ रुपये की संपत्ति गुरुवार को जब्त कर ली। जब्ती का यह कदम मनी लॉन्डरिंग की जांच के सिलसिले में उठाया गया है। यह मामला 522 करोड़ रुपये के बैंक कर्ज जालसाजी मामले से जुड़ा है।

अधिकारियों ने बताया कि मनी लॉन्डरिंग रोकथाम अधिनियम (पीएमएलए) के प्रावधानों के तहत फारूक और उनके परिवार के सदस्यों के फिक्स डिपाजिट जब्त किए गए हैं। फारूक को 14 को ही गिरफ्तार किया जा चुका है। ईडी ने सीबीआइ द्वारा पिछले वर्ष दर्ज एफआइआर के आधार पर आपराधिक मुकदमा दायर किया है।

ये भी पढ़ें :-  हरियाणा में युवक की हत्या के विरोध में मुसलमानों ने 'काली ईद' मनाई

सीबीआइ ने फारूक और उनके फर्म को आइडीबीआइ बैंक के साथ 274 करोड़ रुपये और एसबीआइ के साथ 248 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी करने का आरोपी बनाया था। दोनों बैंकों ने इस संबंध में सीबीआइ में शिकायत दर्ज कराई थी। फर्म के खातों की जांच में हेराफेरी का पता चला था।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>