पंजाब में नशे के कारोबार की सीबीआइ जांच की मांग

Aug 04, 2016
सरकार ने दावा किया है कि पिछले दो साल के दौरान केंद्र सरकार की कोशिशों की वजह से स्थिति में काफी सुधार हुआ है।

जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली। कांग्रेस ने पंजाब में नशे के कारोबार में राज्य के मंत्रियों के शामिल होने का आरोप लगाते हुए इसकी सीबीआइ जांच की मांग की है। उधर, सरकार ने दावा किया है कि पिछले दो साल के दौरान केंद्र सरकार की कोशिशों की वजह से स्थिति में काफी सुधार हुआ है।

राज्य सभा में प्रश्न काल के दौरान ही कांग्रेस सदस्य प्रताप सिंह बाजवा ने कहा कि पंजाब पुलिस के एक डीएसपी ने खुलासा किया था कि छह हजार करोड़ रुपये के इस गैर कानूनी कारोबार में राज्य के तीन मंत्री शामिल हैं। उन्होंने कहा कि एक मंत्री इस पूरे कारोबार का किंगपिन है। सदन में मौजूद गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने उन्होंने इस पूरे मामले की सीबीआइ जांच की मांग की। इसके जवाब में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरण रिजीजू ने कहा कि महज किसी मंत्री का नाम ले लिए जाने की वजह से सरकार उस पर कार्यवाही नहीं कर सकती। उन्होंने पिछले दो साल के दौरान राज्य में नशे की समस्या के खिलाफ उठाए गए कदमों की जानकारी भी दी।

रिजीजू ने कहा कि सीमा सुरक्षा बल गंभीरता से इस बात का प्रयास कर रही है कि सीमा पार से होने वाली नशीले पदार्थो की तस्करी पर रोक लग सके। इसी तरह नशे के खिलाफ जागरुकता को ले कर भी गृह मंत्रालय कार्यक्रम चला रहा है। राज्य सभा में यह मुद्दा मनोनीत सांसद केटीएस तुलसी ने उठाया था। उन्होंने इस मामले को उठाते हुए कहा, ‘देश भर में नशीले पदार्थो के कारोबार से जुड़े आधे से ज्यादा मामले सिर्फ पंजाब में दर्ज हो रहे हैं। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक भी राज्य में प्रतिबंधित नशीले पदार्थो का उपयोग करने वाले सबसे ज्यादा हैं। इसके बावजूद सरकार इस पर गंभीर कदम नहीं उठा रही।’

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>