हरियाणा राज्यसभा चुनाव रद कराने आयोग पहुंची कांग्रेस

Jun 13, 2016
कांग्रेस ने विवादास्पद हालात में पार्टी समर्थित प्रत्याशी की हार के लिए भाजपा-आरएसएस पर साजिश का आरोप लगाया।

नई दिल्ली, प्रेट्र।हरियाणा से राज्यसभा की दो सीटों के लिए हुए चुनाव को रद करने की मांग को लेकर कांग्रेस सोमवार को चुनाव आयोग पहुंची। उसने विवादास्पद हालात में पार्टी समर्थित प्रत्याशी की हार के लिए भाजपा-आरएसएस पर साजिश का आरोप लगाया। कांग्रेस की शिकायत पर आयोग ने निर्वाचन अधिकारी से इस संबंध में रिपोर्ट मांगी है।

प्रतिनिधिमंडल में कांग्रेस महासचिव बीके हरिप्रसाद, पार्टी की हरियाणा इकाई के अध्यक्ष अशोक तंवर और कानूनी प्रकोष्ठ के सचिव केसी मित्तल शामिल थे। उन्होंने हरियाणा की मनोहर लाल खट्टर सरकार पर आरके आनंद को हराने के लिए सरकारी मशीनरी के दुरुपयोग का आरोप लगाया। कांग्रेस नेताओं और आनंद ने दावा किया कि हार का कारण अंदरूनी तोड़फोड़ नहीं था।

हरिप्रसाद ने कहा कि कांग्रेस के सभी विधायकों ने पार्टी के निर्देशानुसार आनंद को वोट दिया था। यह संविधान और चुनाव प्रक्रिया को खत्म करने की बड़ी साजिश है। हमने आयोग से चुनाव में धोखाधड़ी की शिकायत की है। चुनाव को रद कर फिर से मतदान कराने का अनुरोध किया है। मतदान के लिए पेन के बारे में आनंद ने दावा कि भाजपा विधायक असीम गोयल ने इसे बदला था। इस पेन से वोट देने पर कांग्रेस के 14 वोट अमान्य हो गए थे। उन्होंने निर्दलीय विधायक जय प्रकाश पर मतदान स्थल से मूल पेन ले जाने का आरोप लगाया।

आइएनएलडी आरोप लगाया है कि कांग्रेस नेता एवं पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा और भाजपा 14 कांग्रेस विधायकों के वोट अमान्य होने के लिए जिम्मेदार हैं। इसके चलते भाजपा समर्थित निर्दलीय प्रत्याशी सुभाष चंद्रा की जीत हुई। आनंद को मूल रूप से आइएनएलडी ने समर्थन दिया था।

आयोग की भूमिका सीमित

इस बीच सूत्रों ने बताया कि निर्वाचन अधिकारी की रिपोर्ट के आधार पर आयोग आगे की कार्रवाई पर फैसला करेगा। हालांकि विशेषज्ञों का कहना है कि चुनाव परिणाम घोषित हो जाने के बाद आयोग की भूमिका सीमित हो जाती है। प्रभावित दल के पास केवल कोर्ट में चुनाव याचिका दाखिल करने का रास्ता खुला होता है।

यह भी पढ़ें-

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>