जमीनी सच जानने के लिए BJP का जांच दल आज करेगा कैराना का दौरा

Jun 15, 2016
कैराना की जमीनी हालात का जायजा लेने के लिए भाजपा का एक प्रतिनिधिमंडल आज दौरा करेगा।

नई दिल्ली। यूपी का कैराना आजकल सुर्खियों में है। भाजपा का आरोप है कि कैराना को कश्मीर बनाने की साजिश की जा रही है। एक संप्रदाय विशेष की वजह से हिंदू भारी संख्या में पलायन कर चुके हैं। हालांकि उत्तर प्रदेश सरकार का कहना है कि भाजपा एक रणनीति के तहत इस मुद्दे को उछाल रही है। हकीकत ये है कि हिंदुओं के अलावा मुस्लिम समुदाय के लोगों ने भी कैराना को छोड़ा है। कैराना की जमीनी हालात का जायजा लेने के लिए भाजपा का जांच दल आज दौरा करेगा।

बीजेपी का जांच दल पार्टी के नेता विधानमण्डल दल सुरेश खन्ना के नेतृत्व में कैराना पहुंचेगा। जांच दल में खन्ना के अलावा डा. राधामोहन दास अग्रवाल, सांसद बागपत डा. सतपाल सिंह, सांसद सहारनपुर राघव लखन पाल शर्मा, सांसद बुलन्दशहर डा. भोला सिंह, सांसद अलीगढ सतीश गौतम, सांसद आंवला धर्मेन्द्र कश्यप, यूपी के पूर्व डीजीपी बृजलाल है।

शामली के कैराना के बाद अब कांधला कस्बे से पलायन करने वाले 63 परिवारों की आज सूची जारी कर भाजपा सांसद हुकुम सिंह ने एक बार फिर सियासत में गर्मी ला दी है। इस दौरान उन्होंने कहा कि पलायन को धर्म और संप्रदाय से जोडऩा ठीक नहीं है। अपराध और गुंडागर्दी से ही लोग यहां से अन्यत्र गए हैं। उन्होंने यह भी कहा कि कई मुस्लिम परिवार भी कैराना से पलायन कर गए हैं। जिला प्रशासन पर निशाना साधते हुए हुकुम ने कहा कि सत्यापन कर रही प्रशासनिक टीम लोगों पर दबाव डाल रही है। ऐसे लोगों से गलत बयान दर्ज कराए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा संसदीय दल की जांच में सब कुछ साफ हो जाएगा।

नगरपालिका सभागार में सांसद हुकुम सिंह ने पलायन मुद्दे पर दूसरी बार आज पत्रकारों से बातचीत की। उन्होंने फिर कहा कि जिले की कानून-व्यवस्था पूरी तरह से ध्वस्त है। बदमाश बेखौफ हैं। लूट, डकैती और हत्याओं से कैराना दहल रहा है। बहू-बेटियां यहां सुरक्षित नहीं हैं। उन्होंने कहा कि यही हाल कांधला कसबे का भी है। उन्होंने कांधला से पलायन करने वाले 63 लोगों की सूची भी जारी की। कहा कि प्रशासन का तर्क है कि इससे पहले कैराना से पलायन करने वालों की जो सूची मैंने जारी की है, वह फर्जी है, जबकि ऐसा कुछ नहीं। प्रशासन अपनी विफलताओं को छुपा रहा है। उन्होंने कहा कि भाजपा कार्यकर्ता पलायन कर गए परिवारों की जांच कर रहे है। अभी फिर से सूची जारी करेंगे।

सांसद ने पाकिस्तान से आतंक का नेटवर्क चला रहे कैराना के इकबाल काना, हाजी शान, हमीदा तथा दिलशाद मिर्जा का जिक्र कर चुटकी लेते हुए कहा, कि यह लोग भी रोजगार की तलाश में पाकिस्तान पलायन कर गए हैं। यह वहां से जाली करेंसी, अवैध हथियार तथा नशे के कारोबार चला रहे हैं। प्रशासन की रिपोर्ट में पलायन के पीछे पिछड़ेपन के तर्क को हुकुम ने खारिज कर दिया। कहा कि कैराना सड़क, बिजली-पानी तथा कारोबार की दृष्टि से समृद्ध कस्बा रहा है। उन्होंने कहा कि जल्द ही कांधला पलायन की दूसरी सूची भी जारी की जाएगी। उधर उन्होंने वेस्ट यूपी के अन्य कस्बों से भी पलायन की सूची जल्द जारी करने का एलान किया। विधायक सुरेश राणा ने कहा कि सीएम अखिलेश यादव को भाजपाइयों को कोसने के बजाय कैराना आकर हालात का जायजा लेना चाहिए।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>