महिलाओं के लिए योग और उसके फायदे

Jun 14, 2016

बदलते सामाजिक परिवेश के बीच आज महिलाएं अधिक महत्वाकांक्षी हो गई है वो चाहे बात उसके भविष्य की हो या फिर किसी और क्षेत्र की। आज की महिलाओं की भूमिका उनकी पारंपरिक घरेलू महिलाओं या मां और बेटी की भूमिका से बिल्कुल अलग हो चुकी है। आज महिलाएं घर की चार दीवारी से निकलकर सामाजिक-आर्थिक और राजनीतिक जगत में लिए जा रहे फैसलों में बराबर भूमिका अदा कर रही हैं।

यद्यपि, महिलाओं की अपनी सभी भूमिकाओं का ठीक तरीके से निर्वहन के लिए ये जरूरी है कि उनका स्वास्थ्य अच्छा रहे, मानसिक तौर पर शांति हो और जीवन में संतुलन बना रहे। और इन सभी चीजों को पूरा करने के लिए वह कौन सी एक चीज है? जाहिर तौर पर ये सब योग के चमत्कार से हो सकता है। जो लोग नियमित तौर पर योग करते हैं वो जरूर इसके फायदे के बाद इस बात से सहमत होंगे। प्रकृकि के लिहाज से कई मायनों में महिलाओं की भूमिका पुरूषों से भी बढ़कर है।

महिलाओं के लिए योग के महत्व की बात करें तो किशोरावस्था से लेकर मातृत्व, मेनुपाउस वाली आयु से लेकर बुढ़ापे तक महिलाओं कई दौर से गुजरती है, जिसमें इसकी खास भूमिका है। जिनमें महिलाओं में शारीरिक बदलाव आ रहा है उसकी मानसिक परेशानी बढ़ सकती है और जीवन में असंतुलन आ सकता है। ऐसे में जीवन के हर फेज में महिलाओं के लिये नियमति तौर पर योग से ये जहां शारीरिक तौर पर संतुलित बनाए रखता है तो वहीं इसेस मानसिक तौर पर शांति मिलती है।

आर्ट ऑफ लिविंग योग कोर्स के जरिए योग गुरू इसके कई तकनीक सिखाते है जिसे घर में या अपना कार्यस्थल पर आसानी से किया जा सकता है। यही वजह है कि आर्ट ऑफ लिविंग कोर्स के दौरान योगासन, प्रणायाम और मेडिटेशन की तकनीक सिखायी जाती है। नियमित तौर पर योगासन, प्रणायम के जरिए ना सिर्फ महिलाओं के स्वास्थ्य को ठीक रखता है बल्कि मानिसिक परिवर्तन और शारीरिक असंतुलन जैसी आनेवाली समस्याओं से निपटने में भी बेहद कारगर है।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>