सरकार ने कश्मीर में पांच न्यूज चैनलों पर लगाई रोक

Sep 01, 2016
सरकार ने कश्मीर में पांच न्यूज चैनलों पर लगाई रोक
मोबाइल इंटरनेट सेवा और निजी कंपनियों की टेलीफोन सेवाओं पर प्रतिबंध लगाने के बाद गुरुवार को राज्य प्रशासन ने कश्मीर घाटी में पांच टीवी समाचार चैनलों के प्रसारण पर भी अगले आदेश तक…

राज्य ब्यूरो, श्रीनगर। मोबाइल इंटरनेट सेवा और निजी कंपनियों की टेलीफोन सेवाओं पर प्रतिबंध लगाने के बाद गुरुवार को राज्य प्रशासन ने कश्मीर घाटी में पांच समाचार चैनलों के प्रसारण पर भी अगले आदेश तक रोक लगा दी है।

जिला मजिस्ट्रेट श्रीनगर ने गुलिस्तान टीवी, मुंसिफ टीवी, केबीसी, जेके चैनल और इंसाफ टीवी के प्रसारण पर रोक के लिए एसएसपी श्रीनगर के माध्यम से एक नोटिस सेन डीजिटल नेटवर्क, जेके मीडिया नेटवर्क और टेकवन मीडिया को भेजा है।

एसएसपी श्रीनगर को इन चैनलों के प्रसारण पर तत्काल रोक प्रभावी बनाने का निर्देश देते हुए कहा कि गया है इन चैनलों पर प्रसारित होने वाले कुछ कार्यक्रमों से घाटी में कानून व्यवस्था की स्थिति लगातार बिगड़ रही है। इसके अलावा कई कार्यक्रम लोगों में एक दूसरे प्रति घृणा पैदा करने और देश की एकता व अखंडता के खिलाफ माहौल भी बना रहे हैं।

आदेश में कहा गया है कि केबल टेलीविजन नेटवर्क (नियमन अधिनियम 1995) में टेलीविजन नेटवर्क के ऑपरेशन नियामक की व्यवस्था है और यह शांति, सौहार्द व देश की एकता व अखंडता के लिए घातक कार्यक्रमों के प्रसारण व संबधित चैनलों के प्रसारण को रोक सकता है।

सरकार के इस आदेश पर संबंधित टीवी चैनलों से जुड़े स्थानीय लोगों ने एतराज जताते हुए कहा कि यह सभी सैटलाईट चैनल हैं, केबल चैनल नहीं। इसलिए सरकार जिस अधिनियम का हवाला दे रही है, यह उसके दायरे से बाहर हैं।

इसलिए यह प्रतिबंध अनावश्यक और दुराग्रहपूर्ण है। उन्होंने कहा कि एक तरफ सरकार दावा करती है कि कश्मीर में हालात सुधर रहे हैं, लेकिन दूसरी तरफ मीडिया पर पाबंदी साबित करती है कि हालात बिगड़े हुए हैं। सरकार कश्मीर में सच और मीडिया का गला दबाना चाहती है।

पढें-

पढ़ें-

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>