कश्मीर में तनाव: हिंसा में अब तक 15 की मौत, फिर शुरू हुई अमरनाथ यात्रा

Jul 10, 2016
आतंकी बुरहान वानी की मौत के बाद कश्मीर में हालात अभी भी तनावपूर्ण है। हालांकि आज सुबह स्थगित की गई अमरनाथ यात्रा को फिर से शुरू कर दिया गया है।

ऊधमपुर, (जागरण संवाददाता)। आतंकी बुरहान वानी के मुठभेड़ में मारे जाने के बाद घाटी में अभी भी हालात तनावपूर्ण है। घाटी में भड़की हिंसा के बाद अब तक कुल 15 लोगों की मौत हो गई है। जबकि सैकड़ों घायल हुए हैं। इसी बीच खबर है कि अमरनाथ यात्रा को फिर शुरू कर दिया गया है। हिंसा के बाद अमरनाथ यात्रा को शनिवार को स्थगित कर दिया गया था।

कई जगहों पर लगा कर्फ्यू

राज्य में कई जगहों पर कर्फ्यू लगा दिया गया है। कुलगाम, अनंतनाग, त्राल, कोकरनाग और 7 पुलिस थाना इलाके में प्रशासन द्वारा कर्फ्य लगाया गया है। वहीं अधिकारियों ने स्पष्ट कर दिया है कि जब तक की स्थिति में सुधार नहीं होगा, तब तक इंटरनेट की सेवा चालू नहीं होगी।

अब तक 15 लोगों की मौत

ये भी पढ़ें :-  बीजेपी नेता संगीत सोम के प्रचार वाहन से बरामद हुई विवादित सीडी, दर्ज हुआ केस

कश्मीर में विरोध-प्रदर्शन के दौरान भड़की हिंसा में 15 नागरिकों की मौत हो गई है। वहीं 70 से अधिक नागरिक और 96 पुलिसकर्मी घायल हो गए।

कश्मीर की स्थिति पर केंद्र की नजर

जम्मू-कश्मीर में आतंकी बुरहान की मौत के बाद प्रदर्शन और हिंसा को देखते हुए केंद्र सरकार लगातार नजरें गड़ाए बैठी है। राज्य सरकार को पूरी सतर्कता के साथ हर मुद्दे से निपटने की सलाह दी गई है। केंद्र से हर मदद का भी आश्वासन दिया गया है। प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्यमंत्री पहले ही जम्मू में हैं। वह तो लगातार प्रदेश सरकार के संपर्क में हैं हीं, गृहमंत्रालय से भी महबूबा सरकार को सतर्कता के साथ स्थिति से निपटने की सलाह दी गई है।

श्रद्धालुओं पर पथराव

शनिवार रात कश्मीर में उग्र भीड़ ने अमरनाथ श्रद्धालुओं के कई वाहनों पर पत्थरबाजी की। पथराव में दर्जनों वाहन क्षतिग्रस्त हुए और कई श्रद्धालु घायल हुए। सभी श्रद्धालु किसी तरह से वहां बच निकले।

ये भी पढ़ें :-  हर साल भारत से बढ़ते हज यात्रियों को देखते हुए, PM मोदी ने लिया ये बड़ा फैसला..अब नहीं

दिल्ली के निवासी सौरभ व विनोद कुमार के साथ गुजरात से सागर, संतोष, गोविंद व निलेश, चंडीगढ़ से आए राजबीर ढिल्लों व गुरजीत मान व अन्य श्रद्धालु बुरी तरह से सहमे हुए थे। उन्होंने बताया कि दर्शन करने के बाद वह जब आधार शिविरों से रवाना हुए तो स्थिति बिलकुल सामान्य थी, मगर रात को अचानक ही सबकुछ बदल गया। लोग लाठियां और पत्थर लेकर सड़कों पर उतर आए। श्रद्धालुओं के वाहनों को भी निशाना बनाया गया।

पाकिस्तान जिंदाबाद के लगवाए नारे

श्रद्धालुओं ने कहा कि भीड़ का एक ही मकसद था अमरनाथ यात्रा के वाहनों को अपना निशाना बनाना। कई वाहनों को घेरकर उसमें सवार पुरुष, बच्चों और महिलाओं तक से मारपीट की गई। इसके बाद पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाने को कहा गया और न लगाने पर जान से मारने की धमकियां दी गई। नारे लगवाने के बाद भीड़ ने मारपीट के बाद छोड़ा। उन्होंने कहा कि गुजरात के श्रद्धालुओं को तो मोदी का शहर का बता कर उनके साथ और भी ज्यादा मारपीट की गई।

ये भी पढ़ें :-  ओलिंपिक पदक विजेता पहलवान को अखाड़े में बाबा रामदेव ने किया चित्त

हिंसक भीड़ ने फूंके कई वाहन

जान बचा कर लौटे श्रद्धालुओं ने बताया कि कई वाहनों को भीड़ ने जला दिया। जलते वाहनों को देख उनका डर और भी बढ़ गया। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि ऊधमपुर जिला का कोई वाहन घाटी में नहीं आना चाहिए। आने पर तोड़ दिया जाएगा।

मदद के लिए नहीं आई पुलिस

श्रद्धालुओं ने बताया कि अवंतीपोरा में जब उनके वाहन पर भीड़ ने हमला किया, तो उन्होंने पुलिस मदद के लिए 100 नंबर डायल किया, लेकिन किसी ने फोन नहीं उठाया। टनल के दूसरी तरफ सड़क पर न अर्धसैनिक बल के जवान दिख रहे थे, न सेना के और पुलिस वालों से मदद मांगते ही डर लगता था। किसी तरह बच बचा टनल पार करने पर उनकी जान में जान आई और राहत की सांस ली।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected