कश्मीर में शांति बहाली की कोशिश, राजनाथ के नेतृत्व में आज रवाना होगा प्रतिनिधिमंडल

Sep 04, 2016
कश्मीर में शांति बहाली की कोशिश, राजनाथ के नेतृत्व में आज रवाना होगा प्रतिनिधिमंडल
कश्मीर में जारी हिंसा के बीच शांति बहाली के लिए आज सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल आज कश्मीर दौरा करेगा।

नई दिल्ली। घाटी में तनाव के बीच शांति बहाली के लिए सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल आज कश्मीर रवाना होगा। केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह के नेतृत्व में 30 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल कश्मीर का दौरा करेगा।

महबूबा ने की बातचीत की अपील

जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा ने शनिवार की शाम कश्मीर के सभी प्रमुख अलगाववादी नेताओ और संगठनों को पीडीपी के अध्यक्ष की हैसियत से एक पत्र लिखकर उनसे राज्य में अमन बहाली में सहयोग की कामना की है। इसके साथ ही महबूबा ने कहा कि रविवार को श्रीनगर आ रहे सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल के दौरे का बहिष्कार करने की बजाय उनसे मिलें और बातचीत की प्रक्रिया शुरु करें।

ये भी पढ़ें :-  डीएम बी. चंद्रकला के खिलाफ भजपा ने चुनाव आयोग में की शिकायत, ट्रांसफर की मांग

सर्वदलीय बैठक में बनी रणनीति

कश्मीर दौरे से पहले शनिवार को गृहमंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में एक सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल की बैठक हुई। बैठक में कश्मीर की मौजूदा स्थित और इसमें सुधार के लिए उठाए जाने वाले आवश्यक कदमों के बारे में विस्तार से चर्चा की गयी। बैठक के बाद मीडिया से बात करते हुए गृहमंत्री ने कहा कि सभी दलों ने अपने-अपने सुझाव दिए हैं और रविवार को कश्मीर दौरे के बाद एक बार फिर सर्वदलीय बैठक होगी।

हुर्रियत से बातचीत होनी चाहिए सीपीएम

बैठक के बाद मीडिया से बात करते हुए सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी ने कहा, ‘हुर्रियत को भी बातचीत के लिए आमंत्रित किया जाना चाहिए, ताकि ये संदेश जा सके कि हम हर किसी से बात करना चाहते हैं। उन्होंने कहा, ‘हमने प्रतिनिधिमंडल को यह सुझाव दिया है कि विश्वास बहाली के उपायों की तलाश होनी चाहिए और पैलेट गन पर प्रतिबंध लगना चाहिए।’ येचुरी ने कहा कि पुख्ता परिणामों के लिए पुख्ता कदम उठाने की जरूरत है।

ये भी पढ़ें :-  सिसोदिया और दिल्ली सरकार के दफ़्तर पर पड़ा सीबीआई छापा

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected