बांग्लादेश की तर्ज पर बंगाल में हमले का था ब्लू प्रिंट

Jul 06, 2016
बर्धमान जिले से गिरफ्तार आईएस का संदिग्ध एजेंट मोहम्मद मसीउद्दीन उर्फ मूसा पश्चिम बंगाल में संगठन को मजबूत करने की फिराक में है।

संवाददाता, कोलकाता : पश्चिम बंगाल के ब‌र्द्धमान जिले से गिरफ्तार इस्लामिक स्टेट (आइएस) का संदिग्ध एजेंट मोहम्मद मसीउद्दीन उर्फ मूसा तमिलनाडु में रहकर पश्चिम बंगाल में संगठन को मजबूत करने की फिराक में था। इसके लिए सांप्रदायिक हिंसा का भी सहारा लेने की तैयारी थी। बांग्लादेश में हुए हमले की तर्ज पर पश्चिम बंगाल में भी हमले का ब्लू प्रिंट तैयार किया जा रहा था। सीआइडी पूछताछ में मूसा ने ये राज उगले हैं। सीआइडी और एनआइए अब मूसा के फेसबुक अकाउंट और ई-मेल को खंगालने में जुट गई है।

गौरतलब है कि गत चार जुलाई को बीरभूम जिले के लाभपुर जाते वक्त गुप्त सूचना पर ब‌र्द्धमान जीआरपी और सीआइडी की टीम ने शक्तिनगर स्टेशन से विश्वभारती फास्ट पैसेंजर से आइएस के संदिग्ध एजेंट मोहम्मद मसीउद्दीन (25) को हिरासत में लिया था। इसके बाद कोलकाता स्थित सीआइडी मुख्यालय लाकर मैराथन पूछताछ कर पांच जुलाई की शाम को गिफ्तार कर लिया था। उसके पास से एक 13 इंच का छुरा, मिनी गन और तीन राउंड कारतूस भी बरामद हुआ था।

ये भी पढ़ें :-  लालू प्रसाद की कथित 'बेनामी संपत्ति' को लेकर, घमासान..

एनआइए और आइबी ने भी कई बार पूछताछ की थी। सीआइडी सूत्रों के अनुसार बीरभूम, मुर्शिदाबाद, ब‌र्द्धमान, मालदा, नदिया आदि जिलों में आइएस ने एजेंटों के माध्यम से अपना जाल बिछा रखा है। हाल ही में ढाका में हुए आतंकी हमले की तर्ज पर आइएस पश्चिम बंगाल में भी हमले का ब्लू प्रिंट तैयार कर रहा था। गत एक वर्ष से इसकी तैयारी चल रही थी। साथ ही जहां-जहां बांग्लादेशी आतंकी संगठन जमात-उल-मुजाहिदीन बांग्लादेश की मजबूत पकड़ है, वहीं आइएस ने भी अपनी पैठ बनाई है।

सीआइडी के अनुसार गोलीबारी से ही नहीं, बल्कि धारदार हथियारों से लोगों की हत्या करने तथा सांप्रदायिक हिंसा फैलाने की भी साजिश रची जा रही थी। मूसा तमिलनाडु से बीरभूम स्थित अपने घर जाने के लिए नहीं आया था, बल्कि आमोदपुर रेलवे स्टेशन पर उतरकर किसी गुप्त स्थान पर जाने की फिराक में था, जहां पहुंचकर वह किसी हमले की साजिश रचने वाला था। मूसा सोशल साइटों के जरिये सीरिया में आइएस के शीर्ष नेता सफी अरमा के संपर्क में था। उसे वहां से रुपये भी भेजे जाते थे।

ये भी पढ़ें :-  निर्वाचन आयोग ने कहा- ईवीएम से किसी प्रकार की छेड़छाड़ संभव नहीं

फेसबुक पर चैट के माध्यम से मूसा का बांग्लादेश में बैठे आइएस के दो संदिग्ध एजेंटों से भी लिंक था। मूसा रिमांड पर, दो और साथी गिरफ्तार ब‌र्द्धमान में ट्रेन से गिरफ्तार आइएस के संदिग्ध आतंकी मसीउद्दीन उर्फ मूसा को हावड़ा अदालत ने बुधवार को 14 दिनों की सीआइडी रिमांड पर भेज दिया। सीआइडी ने लंबी पूछताछ के बाद मूसा के दो साथियों को भी बुधवार को गिरफ्तार कर लिया। उधर सीआइडी की एक टीम ने तमिलनाडु स्थित मूसा के घर की तलाशी ली और उसकी पत्नी से पूछताछ की।

खबर है कि एक लैपटॉप मिला है जिसके जरिये वह बांग्लादेश, सीरिया और अफगानिस्तान में सक्रिय आइएस सरगना से संपर्क स्थापित करता था। सीआइडी के मुताबिक उसके फोन कॉल में सीरिया, अफगानिस्तान व बांग्लादेश बात होने के सुराग मिले हैं। मूसा की निशानदेही पर सीआइडी ने बीरभूम से उसके दो साथी शेख कालू और शेख अमीन को भी हिरासत में लिया था। उन्हें भी पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया गया। सूत्रों के अनुसार बुधवार देर शाम तीनों के खिलाफ राष्ट्रद्रोह का मुकदमा भी दर्ज कर लिया गया।

ये भी पढ़ें :-  मुसलमानो पर एक और चोट, अल्पसंख्यक कोटा ख़त्म करने के मूड में योगी

लाइक करें:-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>