2019 में फिर मोदी को पीएम के रूप में देखना चाहते हैं 70 फीसद भारतीय- सर्वे

Sep 03, 2016
2019 में फिर मोदी को पीएम के रूप में देखना चाहते हैं 70 फीसद भारतीय- सर्वे
एक ऑनलाइन सर्वे में यह बात सामने निकलकर आई है कि 70 फीसद भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को 2019 में फिर पीएम के रूप में देखना चाहते हैं।

नई दिल्ली (आईएएनएस)। एक ऑनलाइन सर्वे में यह बात सामने निकलकर आई है कि 70 फीसद भारतीय 2019 में नरेंद्र मोदी को फिर से प्रधानमंत्री के रूप में देखना चाहते हैं, इसमें अधिकतर युवा वर्ग शामिल है। इस सर्वे के अनुसार 64 प्रतिशत महिलाएं मोदी को फिर से पीएम पद पर देखना चाहती हैं।

न्यूज एप इनशॉर्ट्स ने मार्केटिंग एजेंसी इपसॉस के जरिए इस सर्वे को कराया है। इस पोल में 63141 लोगों ने भाग लेकर सवालों के जवाब दिए। क्या नरेंद्र मोदी को 2019 में दोबारा प्रधानमंत्री के रूप में देखना पसंद करेंगे ? इस प्रश्न का जवाब देते हुए 70 प्रतिशत ने हां, 17 प्रतिशत ने ना में उत्तर दिया जबकि 13 प्रतिशत लोगों ने पता नहीं में उत्तर दिया। 64 प्रतिशत महिलाएं पीएम के रूप में मोदी को फिर से देखना चाहती हैं, जबकि 18 प्रतिशत महिलाओं ने मोदी सरकार के खिलाफ वोट दिया और 18 प्रतिशत महिलाएं इस सवाल को लेकर दुविधा में नजर आईं।

यह सर्वे 25 जुलाई से 7 अगस्त के बीच कराया गया। सर्वे में शामिल होने वाली इस सर्वे में शामिल होने वाले 80 प्रतिशत लोगों की उम्र 35 वर्ष से कम थी। इनशॉर्ट्स के को-फाउंडर अजहर इकबाल ने कहा कि इस सर्वे का संचालन पूरी निष्पक्षता से किया गया है। उनके मुताबिक इस सर्वे में देश के युवा विभिन्न मुद्दों (राजनीति, शासन, व्यापार, करियर) पर अपनी राय रखी है।

सर्वे में 57 प्रतिशत लोगों ने कुछ राज्यों में शराबबंदी पर सहमति जाहिर की। वहीं छात्र राजनीति पर प्रतिबंध लगाए जाने के सवाल पर 61 प्रतिशत लोगों ने हां में जवाब दिया जबकि 32 प्रतिशत लोगों ने कहा कि छात्र राजनीति बंद नहीं होनी चाहिए। वहीं 7 प्रतिशत लोगों ने कहा कि वो इस पर कुछ नहीं कह सकते।

इसी तरह पिछले दो साल में दलितों पर अत्याचार में बढ़ोत्तरी के सवाल पर भी राय बंटी हुई नजर आई। 33 प्रतिशत लोगों ने कहा कि हां दलितों पर अत्याचार बढ़े हैं जबकि 46 प्रतिशत लोगों ने कहा कि ऐसा नहीं हो रहा है।

कश्मीर मामले को लेकर भी सवाल किया गया। इसमें पूछा गया था कि सरकार जिस तरह से इस समस्या को हैंडल कर रही है क्या वह तरीका सही है। इस पर 49 प्रतिशत लोगों ने सहमति जताई। वहीं 24 प्रतिशत लोगों ने इससे असहमति जताई।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>