नरेंद्र मोदी दूसरे महात्मा गांधी : विजय गोयल

May 28, 2017
नरेंद्र मोदी दूसरे महात्मा गांधी : विजय गोयल

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश में दूसरे महात्मा गांधी हैं। जिस प्रकार महात्मा गांधी ने स्वच्छता की पहल की थी, उसी प्रकार नरेंद्र मोदी भी देश में स्वच्छता के लिए कार्य कर रहे हैं। महात्मा गांधी ने जात-पात तोड़कर देश के लिए काम करने की सलाह दी थी। देश ने भी जाती-पाती का भेद भुलाकर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सरकार को वोट दिया है। यह बात केंद्रीय मंत्री विजय गोयल ने शनिवार को यहां कही। मोदी सरकार के तीन वर्ष पूरे होने पर रायपुर में राज्य सरकार द्वारा आयोजित कार्यक्रम में केंद्रीय युवा विकास एवं खेल राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) विजय गोयल ने कहा, “उप्र का चुनाव जातियों में बंटा होता था, लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर उप्र की जनता ने विकास के नाम पर वोट देकर भाजपा की पूर्ण बहुमत की सरकार बनाई। महात्मा गांधी ने देश को अंग्रेजों से आजादी दिलाई थी और नरेंद्र मोदी देश को भ्रष्टाचार से आजादी दिलाने के लिए काम कर रहे हैं। देशभर में एक हजार से अधिक योजनाएं चलाई जा रही हैं।”

ये भी पढ़ें :-  चीन ने गुरुवार को फिर कहा कि भारत डोकलाम से अपने जवानों बुला ले, तभी बातचीत होगी

गोयल ने प्रदेश में चलाए जा रहे लोक सुराज अभियान की तारीफ की और कहा, “इससे देशभर की अन्य सरकारों को सबक लेना चाहिए। केंद्र की योजनाओं को लागू होते देखना है तो छत्तीसगढ़ में देखें। उज्ज्वला योजना, मुद्रा योजना, जनधन योजना और भी कई योजनाओं का क्रियान्वयन छत्तीसगढ़ में अन्य राज्यों की अपेक्षा अधिक है।”

विजय गोयल ने कहा, “नरेंद्र मोदी देश के पहले ऐसे प्रधानमंत्री हैं, जो खुद सरकार का रिपोर्ट कार्ड लेकर जनता के बीच जा रहे हैं। जहां खुद नहीं जा रहे, वहां केंद्रीय मंत्री सरकार द्वारा तीन वर्षो में किए कार्यो को लेकर जा रहे हैं।”

पूर्व की सरकार पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा, “पूरे देश में भ्रष्टाचार फैल रहा था, जनता में आक्रोश था, देश में ऐसा प्रधानमंत्री था जो बोलता नहीं था और न ही निर्णय ले सकता था। देश ने विकास के लिए नरेंद्र मोदी को चुना।”

ये भी पढ़ें :-  मायावती से इस्तीफा वापस लेने का राज्यसभा का आग्रह

उन्होंने कहा कि देश में विकास के कार्य देखकर राष्ट्रपति को कहना पड़ा कि नेहरू और इंदिरा के बाद कोई प्रधानमंत्री है तो वह नरेंद्र मोदी हैं।

उन्होंने कहा, “कांग्रेसी महात्मा गांधी को भूल गए हैं। याद होगा जब चुनाव के समय कांग्रेस ने घोषणा पत्र जारी किया था। नेहरू, इंदिरा, राहुल, सोनिया की तस्वीरें घोषणा पत्र में थीं, लेकिन महात्मा गांधी की नहीं थी। नरेंद्र मोदी की सरकार ने महात्मा गांधी के सिद्धांतों पर सरकार चलाकर उनका मान बढ़ाया है।”

उन्होंने नोटबंदी को ऐतिहासिक फैसला बताया। गोयल ने कहा, “जनता बैंकों के सामने लाइन लगाकर खड़ी रही, तकलीफ में भी रही, लेकिन नोटबंदी के फैसले का समर्थन किया। क्योंकि ये भ्रष्टाचारियों और कालाधन रखने वालों के खिलाफ फैसला था और जनता प्रधानमंत्री मोदी के साथ खड़ी थी। आज जब बड़े राजनेताओं के यहां छापे पड़ते हैं तो विपक्ष इसे बदले की राजनीति कहता है। लेकिन सवाल है कि इनके यहां हजारों करोड़ रुपये आए कहां से।”

ये भी पढ़ें :-  रामनाथ कोविंद देश के नए 14वां राष्ट्रपति निर्वाचित

गोयल ने कहा, “सिर्फ सरकारी नौकरियों को ही रोजगार के तौर पर नहीं देखा जाना चाहिए। मुद्रा योजना और कौशल विकास के माध्यम से सरकार ने 7.5 करोड़ लोगों को रोजगार के अवसर दिए हैं। इसमें बेरोजगारों को 50 हजार से लेकर 10 लाख रुपये तक का ऋण दिया गया है। इससे लोगों ने अन्य को भी रोजगार दिया है।”

केंद्रीय मंत्री ने कहा, “छत्तीसगढ़ में 35 लाख परिवारों को उज्ज्वला योजना का लाभ दिलाने के लक्ष्य में हम 11 लाख महिलाओं को कनेक्शन दे चुके हैं। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने प्रदेश वासियों से स्मार्ट कार्ड योजना में अपना नाम जुड़वाने की अपील की है।”

लाइक करें:-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>