फ्रांस के नीस शहर में आतंकी हमला : जश्न मना रहे 80 लोगों को ट्रक से कुचला

Jul 15, 2016

फ्रांस के नीस में आतंकी हमला हुआ है. एक शख्स बेकाबू ट्रक को लेकर नीस शहर में फ्रेंच नेशनल डे के समारोह के लिए जुटी भीड़ में घुस गया. आतंकवादी संगठन आईएसआईएस ने हमले की जिम्मेदारी ली है. प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार हमलावर ने लोगों को रौंदने के बाद फायरिंग भी की. हमले में कम से कम 80 लोगों की मौत हो गई है जबकि करीब 150 लोग घायल बताए जा रहे हैं, जिनमें से 50 की हालत गंभीर है. लोग बैस्टिल डे के मौके पर आतिशबाजी देखने के लिए जुटे थे.

ISIS ने ली जिम्मेदारी
फ्रेंच मीडिया के मुताबिक कुख्यात आतंकी संगठन आईएसआईएस ने हमले की जिम्मेदारी ली है. पुलिस ने ट्रक ड्राइवर को मार गिराया. हमले के एक संदिग्ध के भाग जाने की खबर भी है. सुरक्षाबलों ने पूरे इलाके को घेर लिया है और तलाशी अभियान जारी है.

ये भी पढ़ें :-  अमेरिका ने कहा-एनएसजी का सदस्य बनने का भारत हकदार, मगर चीन डाल रहा अड़ंगा

ट्रक में मिले पहचान पत्र
पुलिस के सूत्रों से जानकारी मिली है कि ट्रक में फ्रेंच-ट्यूनिशिया के पहचान पत्र पाए गए हैं. फ्रेंच राष्ट्रपति ओलांद ने आतंकी हमला होने से इनकार नहीं किया है. साथ ही देश में तीन महीने के लिए इमरजेंसी जारी रखने का भी ऐलान किया है. अमेरिका समेत तमाम देशों ने हमले की निंदा की है और जांच में सहयोग

कोई भारतीय हताहत नहीं
भारत के विदेश मंत्रालय ने बताया है कि पेरिस में भारतीय राजदूत हमारे नागरिकों के संपर्क में हैं और अभी तक किसी के हताहत होने की खबर नहीं है. इसके अलावा पेरिस में भारतीय एंबेसी ने हेल्पलाइन नंबर +33-1-40507070 जारी किया है.

हादसा नहीं हमला
पहले खबर आ रही थी हादसे की लेकिन फ्रेंच अधिकारियों ने इसे एक हमला बताया है. एक अंग्रेजी वेबसाइट की खबर के मुताबिक एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि ड्राइवर ने भीड़ में ट्रक घुसाने के बाद लोगों पर गोलियां भी बरसाईं . इसके बाद हर तरफ लाशें ही लाशें बिछ गईं.

ये भी पढ़ें :-  अपनी अंतिम प्रेस कांफ्रेंस में ओबामा ने कहा- भविष्य में कोई हिंदू भी हो सकता है अमेरिका का राष्ट्रपति

आतंकी को किया ढेर
मौके पर पहुंची पुलिस ने आतंकी को ढेर कर दिया है. फिलहाल किसी तरह के बंधक संकट की सूचना नहीं है. मामले की जांच का जिम्मा एंटी टेररिस्ट जांच अधिकारियों को दिया गया है.

अपनी यात्रा से लौट रहे हैं राष्ट्रपति ओलांद
एविनोन गए फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद ने हमले की सूचना मिलने के बाद पेरिस लौटने का फैसला किया है. वो इस हमले को लेकर बैठक करेंगे. रीजनल प्रेसिडेंस क्रिस्टियन एस्ट्रोजी ने बताया कि जिस ट्रक को भीड़ पर चढ़ाया गया, वो हथियारों और ग्रेनेड से भरा हुआ था.

अमेरिका ने की मदद की पेशकश
अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने नाइस में हुए इस आतंकी हमले की कड़ी निंदा की है. साथ ही उन्होंने हमले की जांच में फ्रांस को मदद की पेशकश भी की है. दूसरी तरफ फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति निकोलस सरकोजी ने हमले पर गहरा दुख जताया है. उन्होंने ट्वीट कर हमले में लोगों के मारे जाने पर शोक व्यक्त किया है.

ये भी पढ़ें :-  अदालत के आदेश के बाद भी, शेख़ ज़कज़की को जेल से अब तक क्यों नहीं रिहा किया गया: इब्राहीम मूसा

मरने वालों की संख्या में हो सकता है इजाफा
फ्रांस के गृह मंत्रालय के प्रवक्ता पियरे-हेनरी ब्रेंडिट ने हमले की पुष्टि करते हुए कहा कि इस हमले में दर्जनों लोगों की मौत हुई है. उन्होंने कहा कि मरने वालों की संख्या में अभी और इजाफा हो सकता है.

हमले की सूचना मिलते ही पुलिस और कई एंबुलेंस मौके पर पहुंच गई हैं. मरने वालों की संख्या में इजाफा हो सकता है. फिलहाल किसी आतंकी संगठन ने हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है.

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected