विधानसभा में 16 जुलाई तक बहुमत साबित करें नबाम तुकी : राज्यपाल

Jul 15, 2016

उच्चतम न्यायालय द्वारा अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में बहाल किए गए नबाम तुकी से बृहस्पतिवार को राज्यपाल ने 16 जुलाई तक विधानसभा में बहुमत साबित करने को कहा.

हालांकि तुकी ने कहा कि उन्हें सदन में बहुमत साबित करने के लिए कुछ वक्त चाहिए.
अपने कार्यालय पहुंचने के बाद  उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि वह कार्यकारी राज्यपाल तथागत राय से प्रस्तावित शक्ति परीक्षण टालने का अनुरोध करेंगे, क्योंकि यह इतने कम समय में संभव नहीं है. राज्यपाल ने एक संदेश में तुकी को सूचित किया कि उच्चतम न्यायालय के फैसले का पालन करते हुए उन्हें राज्य के मुख्यमंत्री के रूप में बुधवार को ही तत्काल बहाल कर दिया गया. उन्होंने उनसे विधानसभा का सत्र तत्काल बुलाने और 16 जुलाई तक अपना बहुमत साबित करने को कहा.

ये भी पढ़ें :-  राजनाथ का राहुल पर निशाना-खाट से नैया पार नहीं हुई तो साइकिल पर चढ़ गए

कांग्रेस सरकार की अगुवाई करने वाले तुकी की सरकार जनवरी में राज्यपाल जेपी राजखोवा की विवादास्पद भूमिका के बाद  गिर गई थी. इस संदेश में कहा गया है कि शांतिपूर्ण कार्यवाही सुनिश्चित करने के लिए विश्वास मत हासिल करने की कार्यवाही की वीडियोग्राफी की जानी चाहिए तथा बहुमत ध्वनिमत से नहीं बल्कि मत-विभाजन से साबित किया जाना चाहिए.

 

राजभवन के अनुसार राज्यपाल ने इस बात पर बल दिया कि सदन में वीडियोग्राफी समेत पूरी कार्यवाही केंद्र सरकार बनाम हरीशचंद्र सिंह रावत मामले में उत्तराखंड में राष्ट्रपति शासन के सिलसिले में उच्चतम न्यायालय के छह मई के आदेश के निर्धारित मापदंड के अनुसार ही होनी चाहिए. इस आशय का नोट विधानसभा सचिवालय को भेज दिया गया है.

ये भी पढ़ें :-  रामजस कालेज में हिंसा को लेकर मोदी, राजनाथ को आप ने ठहराया जिम्मेदार

तुकी बृहस्पतिवार शाम यहां पहुंचे. उन्होंने उच्चतम न्यायालय के आदेश के बाद  बुधवार को नई दिल्ली में अरुणाचल भवन में राज्य के मुख्यमंत्री का कार्यभार संभाल लिया था. अपने कार्यालय पहुंचने वाले विधानसभा अध्यक्ष नबाम रेबिया ने भी कहा कि सत्र बुलाने के लिए कम से कम 10-15 दिन का समय चाहिए. रेबिया ने संवाददाताओं से कहा, मुझे राज्यपाल का आदेश मिला है जिसमें सरकार से 16 जुलाई तक शक्ति परीक्षण करने को कहा गया है. लेकिन भौगोलिक स्थिति, खराब मौसम और राज्य में संचार संबंधी असुविधा को ध्यान में रखते हुए यह व्यावहारिक रूप से असंभव है.

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

ये भी पढ़ें :-  महाराष्ट्र निकाय चुनाव : मुंबई में शिवसेना बराबरी पर, अन्य जगह भाजपा आगे
लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected