मुसलमानों का क़त्ल-ए-आम करने वाली म्यांमार सरकार ने लगायी क़ुरान पर पाबंदी

Aug 18, 2016

अरकान: धार्मिक स्वतंत्रता पे एक बड़ा हमला करते हुए म्यांमार ने मुसलमानों को अपने बच्चों को क़ुरान शरीफ़ पढ़ाने पे रोक लगा दी है. मुसलमानों से कहा गया है कि इस्लामिक सिद्धांतों को वो अपने बच्चों को ना सिखाएं. अरकान न्यूज़ एजेंसी की रिपोर्ट के मुताबिक़ मुन्ग्दाव शहर में रोहिंग्या अध्यापकों से कहा गया है कि वो इस्लामिक सिद्धांत ना बताएं और इसके लिए उनसे ज़बरदस्ती दस्तख़त करवाए गए.
एजेंसी ने बताया कि अगर वो इस बात से मुकरते हैं तो उन्हें दस साल तक की सज़ा हो सकती है. अथॉरिटीज ने अभी ये फैसला सिर्फ़ साउथ मुन्ग्दाव शहर के लिए किया है और वो आगे पूरे शहर पे ऐसा करने की सोच रहे हैं.
मालूम हो कि 2012 से म्यांमार में रोहिंग्या मुसलमानों का नरसंहार किया जा रहा है और उनके लिए वहाँ रहना नामुमकिन के बराबर हो गया है. पूरी दुनिया जहां म्यांमार की निंदा कर रही है वहीँ म्यांमार की सरकार इस ओर बिलकुल ध्यान नहीं दे रही है.

ये भी पढ़ें :-  चीन की धमकी-लड़ाई हुई तो 48 घंटे में दिल्ली पहुँच जाएँगे चीनी सैनिक

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected