मुस्लिम महिला को देवी बना सालों से पूजते आ रहे हैं हिंदू

Aug 10, 2016
नई दिल्ली।  हिंदू- मुस्लिम, सिख-ईसाई धर्म के नाम पर जहां चारो ओर दंगा फैलाया जाता है। वहीं गुजरात के गांधीनगर के पास झुलासन गांव में एक मुस्लिम महिला को देवी के रूप में पूजा जाता है। सबसे दिलचस्प बात तो यह है कि इस गांव में एक भी मुस्लिम परिवार नहीं रहता है। यह पूरा का पूरा गांव हिन्दूओं का है।
इस मुस्लिम देवी का नाम डोला माता देवी है। यह गांव तब फेमस हुआ जब भारतीय मूल की अंतरिक्ष यात्री सुनीता विलियम्स अपने पिता के साथ गांव में डोला माता नाम की देवी की पूजा करने आई थी। गांधीनगर से करीब 20 किलोमीटर दूर बसा है इस गांव की आबादी तकरीबन पांच हजार है। इस गांव में एक भी ऐसा परिवार नहीं है जिसका कोई ना कोई विदेश में ना हो। गांव में आठ सौ साल पुराना डोला माता का मंदिर है।
यूं तो डोला माता का जिक्र हिंदू धर्म में कहीं और नहीं आता। BBC की रिपोर्ट की  मानें तो, “डोला माता एक मुस्लिम महिला थीं ऐसा वहां पूर्वजों का कहना था।
वहां के लोकल लोगो का कहना है कि जब गांवों में लुटेरे आते थे और गांव को लूट कर चले जाते थे, तो पड़ोस के गांव से गुजरने वाली एक मुस्लिम महिला ने देखा कि झुलासन गांव में लूट मची हुई है। उन्होंने ठहर कर लुटेरों को ललकारा और लड़ते-लड़ते मर गईं। आज जहां मंदिर है वह वहीं वो मरी थीं। इसके कई साल के बाद उनके नाम पर मंदिर बनाया गया। गांव वालों की उनमें काफी श्रद्धा है।
गांवों वालों का मानना है कि डोला देवी उनकी रक्षा भी करती हैं और तकलीफें भी दूर करती हैं। झुलासन गांव के जो लोग विदेशों में बसे हुए हैं, उनमें अंतरिक्ष यात्री सुनीता विलियम्स के पिता दीपक पंड्या भी हैं।
दीपक पंड्या 22 साल की उम्र तक झुलासन में ही रहते थे। उसके बाद वो अमरीका चले गए थे. सुनीता विलियम्स जब अंतरिक्ष में जाने वाली थीं तो वो अपने पिता के साथ डोला माता का आशीर्वाद लेने झुलासन आई थीं।
मंदिर के पुजारी दिनेश पंड्या का कहना है कि अपने घर वापस आने वाला गांव का कोई भी एनआरआई या विदेश में शादी कर के लौटने वाला झुलासन का कोई भी बाशिंदा एयरपोर्ट से सीधे डोला माता के दर्शन करने के बाद ही घर जाता है।
गुजरात के वरिष्ठ पत्रकार पूर्व पटेल ने बताया कि 2002 के दंगों में उत्तर गुजरात के कई गांवों में दंगे हुए थे। मंदिरों और मस्जिदों को तोड़ा गया था। लेकिन आश्चर्य की बात है कि डोला माता के मंदिर को किसी ने नुक़सान पहुंचाने के बारे में सोचा भी नहीं।
अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे
लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>