मुस्लिम मंत्री को महंगा पड़ा ‘जय श्री राम’ का नारा लगाना, फतवे के बाद मांगी माफी

Jul 31, 2017
मुस्लिम मंत्री को महंगा पड़ा ‘जय श्री राम’ का नारा लगाना, फतवे के बाद मांगी माफी

बिहार विधानसभा में ‘जय श्री राम’ का नारा लगाने वाले जनता दल-यूनाइटेड के मंत्री खुर्शीद आलम उर्फ फिरोज अहमद ने रविवार को माफी मांग ली है। उन्होंने सीएम नीतीश कुमार के सामने अल्पसंख्यक समुदाय से माफी मांगी।

बता दें कि 28 जुलाई को बिहार विधानसभा में जेडीयू-बीजेपी गठबंधन ने जैसे ही विश्वास मत हासिल किया वैसे ही खुर्शीद ने ‘जय श्रीराम’ का नारा लगाया था। जिसकी वजह से एक मुस्लिम संगठन इमरत-ए-शरिया के एक मुफ्ती ने आलम को समाज से बायकाट करने का फतवा जारी किया है। मुफ्ती सुहैल अहम कुरैशी ने हालांकि ये कहा है कि, उन्होंने आलम के खिलाफ यह फतवा निजी तौर पर जारी किया है, न कि ये इमरत-ए-शरिया की ओर से है।

अपने खिलाफ जारी फतवे को लेकर खुर्शीद ने कहा था कि, “मैं न तो किसी फतवा की चिंता करता हूं और न ही इसे गंभीरता से लेता हूं। मैं इस तरह के फतवों से नहीं डरता..मैं एक सच्चा मुसलमान हूं और मेरी धार्मिक निष्ठा में कोई गड़बड़ी नहीं है।” और उन्होंने ये भी आगे कहा था कि, “अगर मुझे शांति और सौहार्द के लिए जरूरी लगा तो मैं फिर से जय श्री राम का नारा लगाऊंगा।”

लेकिन इस मामले में बढ़ता विवाद देख कर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आलम को माफी मांगने के लिए कहा, जिसके बाद उन्होंने अपने पिछले बयान से पलटते हुए कहा कि, उन्होंने धार्मिक उद्देश्य से यह नारा नहीं लगाया था। और फिर माफ़ी मांगते हुए कहा कि, “अगर मैंने जय श्री राम का नारा लगाकर जनभावना को आहत किया है तो इसके लिए मैं माफी मांगता हूं।”

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>