मुस्लिम देशों को इस्लाम की बुनियाद पर एक हो जाना चाहिए: राष्ट्रपति इरदुगान

Oct 04, 2016
मुस्लिम देशों को इस्लाम की बुनियाद पर एक हो जाना चाहिए: राष्ट्रपति इरदुगान

तुर्की- राष्ट्रपति रजब तईब इरदुगान ने इस्लामिक देशों के बीच एकता और जोड़ की बात कही है.  मीडिया चैनल से बात करते हुए रजब तय्यिप एरदोअन ने कहा कि इस्लामिक देशों को एकजुटता दिखानी चाहिए.

“तुर्की और सऊदी अरब को निशाना बनाया जा रहा है. हम देख रहे हैं कि सारे षड्यंत्र मुस्लिम देशों के ख़िलाफ़ किये जा रहे हैं,”

प्रभावशाली मुस्लिम नेता ने कहा कि सीरिया में 6 लाख से ज़्यादा लोग मारे जा चुके हैं और अगर अब भी हम एक जुट नहीं हुए तो बहुत देर हो जायेगी.

अमरीका और तुर्की ने उत्तरी सीरिया में ISIL के ख़ात्मे को लेकर अगस्त के आख़िर में ऑपरेशन शुरू किया था. उन्होंने कहा कि तुर्की का इसमें कोई अपना हित नहीं है लेकिन मुसलमान होने के नाते उनकी ये ज़िम्मेदारी है कि लोग अगर सीरिया में परेशान हैं तो उसमें आगे आयें. तुर्की में सीरिया के तक़रीबन 30 लाख रिफ्यूजी हैं जिस पर 12.5 बिलियन अमरीकी डॉलर का ख़र्च हो चुका है. उन्होंने कहा कि ये सब सिर्फ़ इसलिए है क्यूंकि इस्लाम और इंसानियत की बात है.

ये भी पढ़ें :-  बोको हराम की हिंसा से 70 लाख लोग जूझ रहे भुखमरी से

पश्चिमी देशों को चाहिए था कि वो रिफ्यूजी लोगों की मदद करें तो वो अपने बॉर्डर बंद कर रहे हैं. इराक़ के हालात पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि मोसुल वहाँ के लोगों का है.

उन्होंने कहा कि मोसुल जब दा’एश (ISIL) से आज़ाद हो जाए तो सिर्फ़ सुन्नी अरब, तुर्की और सुन्नी कुर्द ही वहाँ रहें.

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected