बड़ा खुलासा: जाकिर नाईक के कुनबे में विदेशों से तीन साल में जमा हुए 60 करोड़ रु.

Aug 11, 2016

नई दिल्ली। विवादित इस्लामी उपदेशक जाकिर नाईक को लेकर लगातार खुलासों के बीच उनकी मुश्किलें भी लगातार बढ़ती जा रही हैं। ताजा खुलासा उनके बैंक अकाउंट को लेकर सामने आया है।

की जांच में पता चला है कि जाकिर नाईक के कुनबे के बैंक अकाउंट में पिछले तीन साल में विदेशों से करीब 60 करोड़ रुपये की राशि जमा हुई है।

जाकिर नाईक की बढ़ी मुश्किलें

टीओआई की खबर के मुताबिक मुंबई पुलिस के अधिकारी ने बताया कि ये धनराशि तीन देशों से पांच अकाउंट में भेजे गए। इनमें नाईक के परिवार के सदस्यों के भी बैंक अकाउंट शामिल हैं।

के कई गैरकानूनी काम, सरकार ले सकती है एक्शन

मुंबई पुलिस के सूत्रों का कहना है कि वह नाईक के अकाउंट में भेजे गए पैसों की जांच कर ये पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि आखिर किन वजहों से ये ट्रांजेक्शन हुआ है।

पुलिस अधिकारी के मुताबिक हम अभी भी ये नहीं जान पाए हैं कि आखिर इन पैसों को किन वजहों से जाकिर के अकाउंट में भेजा गया है। हम इसकी जांच कर चुके हैं और पता चला है कि ये पैसे जाकिर नाईक के परिजनों के अकाउंट में ही भेजे गए हैं।

हालांकि पुलिस अधिकारी ये जरूर साफ कर दिया कि जिन अकाउंट में ये पैसे भेजे गए वह नाईक के एनजीओ इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन से जुड़े नहीं हैं, लेकिन उनके करीबियों के जरूर हैं। फिलहाल पुलिस जाकिर नाईक और उसकी संस्था इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन के बीच हुए पैसों के लेन-देन की जांच में जुटी हुई है। इस बारे में इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन के अधिकारियों से पूछताछ की गई है।

पुलिस अधिकारी ने बताया कि हमने फाउंडेशन से जुड़े अधिकारियों से उनके आमदनी के स्त्रोत के बारे में सवाल किए। साथ ही पैसा भेजने वालों के नाईक से संबंधों की भी पड़ताल की जा रही है।

फिलहाल विदेशी योगदान (विनियमन) अधिनियम 2010 के तहत नाईक के दो गैर सरकारी संगठनों के खिलाफ कार्रवाई को लेकर फैसला लिया जा सकता है। केंद्रीय गृहमंत्रालय, विदेशी योगदान (विनियमन) अधिनियम 2010 के उल्लंघन के मद्देनजर इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन और इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन एजुकेशनल ट्रस्ट की जांच में जुटी हुई है।

मुंबई पुलिस ने कसा शिकंजा

दूसरी ओर जाकिर नाईक से जुड़े सूत्रों का कहना है कि कोई भी लेन-देन गैरकानूनी नहीं है। साल 2015 तक इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन के बैंक अकाउंट में जो भी पैसों का लेन-देन हुआ है उसका रिकॉर्ड आयकर विभाग को भेजा गया है। जो भी पैसे इस दौरान आए हैं उसका पूरा रिकॉर्ड मौजूद है।

इसके साथ-साथ मुंबई पुलिस ने जाकिर नाईक द्वारा चलाए जा रहे अंतर्राष्ट्रीय स्कूल के बैंक अकाउंट की भी जांच की है। इस बारे में जांच रिपोर्ट कमिश्नर डीडी पडसलगिकर को हाल ही भेजा गया है। इसमें पैसों के लेन-देन के साथ-साथ, बैंक स्टेटमेंट भी शामिल है।

इस बीच महाराष्ट्र सरकार ने नाईक पर धार्मिक शत्रुता को बढ़ावा देने के मामले में कार्रवाई की योजना बना ली है। बता दें कि टीवी उपदेशक जाकिर नाईक की मुश्किलें एक जुलाई को ढाका हमले के बाद से बढ़ने लगी। जब इस हमले से जुड़े हमलावरों में से दो ने दावा किया था कि वह नाईक के भाषणों से खासे प्रभावित थे।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>