मुंबई: OBC समुदाय की लड़की से प्यार करने पर दलित युवक की हत्या

Jul 21, 2016

मुंबई। स्वपनिल सोनावाने को मंगलवार रात केवल इसलिए पीट पीट कर मार दिया गया क्योंकि वह एक ओबीसी समुदाय की लड़की से प्यार करता था। पुलिस के अनुसार स्वपनिल सोनावाने (15) की हत्या इसलिए कर दी गई क्योंकि वह ओबीसी समुदाय की जाति की लड़की के साथ रिलेशनशिप में था। पुलिस ने इस मामले में बुधवार को लड़की के रिश्तेदारों और दोस्तों सहित सात लोगों को गिरफ्त में लिया है।

बता दें कि लड़की को भी इस मामले में आरोपी बनाया गया है। जिसके चलते लड़की को भिवंडी में बालगृह में भेज दिया गया है। नवी मुंबई के पुलिस कमीश्नर हेमंत नगराले ने बताया कि लड़के के परिजनों का दावा है कि लड़की उसकी मौत के लिए जिम्मेदार है। लड़की के परिजन, दो भाई और भाईयों के दोस्त और एक रिक्शा ड्राइवर को गिरफ्तार किया गया है। एक अधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया कि स्वपनिल को प्राइवेट पार्ट्स और छाती में चोट लगी थी। उसके बाद उसे अस्पताल ले जाया गया जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया।

ये भी पढ़ें :-  चुनाव के बीच पैसा बांटेंगे नेता, छापेमारी में चार करोड़ बरामद

तो वहीं लड़के के पिता शाहजी के अनुसार सोमवार शाम को स्वपनिल को लड़की के भाई ने कॉल करके फोन और पैनड्राइव के साथ नीचे बुलाया। स्वपनिल जैसे ही नीचे गया तो कुछ लोग उसे जबरदस्ती उठा कर ले गए और उसकी जमकर पिटाई की। उसके बाद उसे नेरूल पुलिस स्टेशन ले जाया गया। शाहजी ने बताया कि थाने में लड़की के पिता पहले से मौजूद थे। पुलिस ने स्वपनिल को लड़की से दोबारा नहीं मिलने के लिए चेताया था। आपको बताते चलें कि दोनों एक ही स्कूल में पढ़ते थे।

पुलिस कमीश्नर ने मामले में कोताही बरतने के आरोप में दो पुलिस अधिकारियों को सस्पेंड़ किया है। स्वपनिल की हत्या से पहले शाहजी पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराने पहुंचे थे लेकिन पुलिस अधिकारियों ने मामला दर्ज करने से इनकार कर दिया था। शाहजी जब थाने में थे तो उनकी बेटी का कॉल आया। उसने बताया कि उनके घर पर कुछ लोग आए हुए हैं। शाहजी ने बताया कि जब मैं वहां पहुंचा तो देखा कि 15 से 20 लोग वहां मौजूद हैं। जिसमें लड़की का भाई भी शामिल था। मैं उनसे मिला तो लड़की के भाई ने बताया कि आपका बेटा और मेरी बहन दोनों रिलेशनशिप में है। पहले उन्होंने मुझे धमकाया। इसके बाद कहा कि आप हमारे घर पर आ जाईए, मामले को सुलझा लेंगे।

ये भी पढ़ें :-  घोटालो के आरोपी छगन भुजबल का इलाज कर रहे डॉक्टर को अदालत ने पाया दोषी

शाहजी ने आगे बताते हुए कहा कि जब मैं उनके घर पहुंचा तो लड़की का पिता मुझे और मेरे बेटे को गालियां देने लगा। मुझे और मेरे बेटे को थप्पड़ मारे गए। पिता ने अपनी बेटी को बुलाया और मेरे बेटे से कहा कि माफी मांगो और उसे बहन बोलो। मेरे बेटे का अपमान किया गया और कहा गया कि वह लड़की के पैरो में गिरे। हालांकि, उसने यह भी किया। लेकिन लड़की के पिता ने उसे फिर मारा। वह बहुत डर गया और घर से बाहर भाग गया। चार-पांच लोग उसके पीछे भागे और उसे चौक पर ही मारा।

ये भी पढ़ें :-  मोदी राम मंदिर बनवाने के लिए वादा करें, तभी साधु-महंत बीजेपी का समर्थन करेंगे, नहीं तो

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected