MP -शिवराज सरकार के राज में सरकारी स्कूलों में कराई जा रही है यौन शोषण के आरोपी आसाराम की पूजा

Jun 23, 2016

टीकमगढ़ (मध्य प्रदेश)। जिले के सरकारी स्कूलों में यौन शोषण के आरोपी आसाराम का पूजन कराया जा रहा है। स्कूली बच्चों को आसाराम का महिमा मंडन कर उसके विचारों का पाठ भी पढ़ाया जा रहा है। आसाराम की संस्था युवा सेवा संघ के लोग स्कूल-स्कूल जाकर शिक्षकों की मौजूदगी में कैंप लगा रहे हैं।

प्रचार सामग्री बांट रहे हैं : आशाराम के शिष्य अपने साथ में मैजिक ऑटो में अपने साथ आशाराम का कैलेंडर सहित अन्य प्रचार सामग्री ले जा रहे हैं। स्कूलों में जाकर सबसे पहले आशाराम का बैनर लगाते हैं। फिर बच्चों से आशाराम का पूजन कराया जाता है। इसके बाद युवा संघ के कार्यकर्ता अपने मिशन में जुट जाते हैं।

एक दर्जन से ज्यादा स्कूलों में कराया पूजन : युवा सेवा संघ के सदस्यों ने दो दिन में एक दर्जन से ज्यादा स्कूलों में अपने कैंप लगाए। इनमें पहाड़ी तिलरावन, अस्तौन, सगरवाड़ा, जुड़ावन, पठा, माडूमर, उऊदनवारा, बगाजमाता, सुंदरपुर, नारायणपुर, बल्देवगढ़, खरगापुर, मवई, मंजना, आलमपुरा तथा अंनतपुरा गांव के सरकारी और प्राइवेट स्कूल शामिल हैं। अस्तौन गांव के संदीप कुशवाहा का कहना है कि गांव के निजी एवं सरकारी स्कूलों में जाकर यह कार्यक्रम आयोजित कराया था। संघ के अध्यक्ष हरिमोहन सिंह सोलंकी का कहना है कि हम लोग स्कूलों में जाकर वैलेंटाइन डे पर माता-पिता पूजन की प्रेरणा दे रहे थे। इसकी जोत आशाराम बापू ने जगाई है। हमारा मकसद संस्कारवान पीढ़ी का निर्माण करना है।

सवाल : आपको पता है स्कूलों में आशाराम का प्रचार-प्रसार हो रहा है।

जवाब : मेरे पास अभी तक इस तरह की कोई शिकायत नहीं आई। आशाराम तो राष्ट्रीय अपराधी है। यह मामला आपके द्वारा मेरे संज्ञान में आया।

सवाल : युवा सेवा संघ को यह अनुमति किसने दी।

जवाब : अनुमति का सवाल ही नहीं उठता।

सवाल : चूंकि अब मामला सामने आया है। ऐसे में आप क्या कार्रवाई करेंगे।

जवाब : मैं एसडीएम से पूरे मामले की जांच कराता हूं। यह बहुत ही गंभीर मामला है।

सवाल : स्कूलों में यह सब चल रहा है। डीईओ को इसकी भनक तक नहीं है। क्या वे मानीटरिंग नहीं करते हैं।

जवाब : मैंने डीईओ को तलब किया है। स्पष्टीकरण मांगा जाएगा।

केदार शर्मा, कलेक्टर, टीकमगढ़

स्कूल में शिक्षक बच्चे आसाराम बापू की पूजा करते हुए।

कलेक्टर बोले –

आशाराम तो राष्ट्रीय अपराधी है

कलेक्टर केदार शर्मा का कहना है कि स्कूलों में आशाराम का प्रचार-प्रसार किसकी अनुमति से किया जा रहा है। यह तो राष्ट्रीय अपराधी है। मैं एसडीएम को भेजकर इसकी जांच कराता हूं। डीईओ से भी इस मामले की जानकारी ली जाएगी। प्रशासन ने किसी प्रकार की अनुमति दी है।

शिक्षकों पर कार्रवाई होगी

डीईओ बीएस देशलहरा का कहना है कि स्कूलों में आशाराम बापू से संबंधित सामग्री का वितरण या अन्य कोई कार्यक्रम करना बेहद गंभीर मामला है। अभी मेरी जानकारी यह मामला आया है। मैं जांच कराता हूं। दोषी पाए जाने पर शिक्षकों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>