Movie Review: पीरियड ड्रामा पसंद करने वाले देखें ‘मोहनजो दाड़ो’

Aug 12, 2016

‘जोधा अकबर’ के बाद एक बार ऋतिक रोशन और आशुतोष गोवारिकर की जोड़ी सिल्वर स्क्रीन पर है। मोस्ट अवेटेड फिल्म ‘मोहनजो दाड़ो’ रिलीज हो गई है। इसमें प्री-हिस्टोरिक इंडस वैली सिविलाइजेशन के समय को परदे पर उतारा गया है।

कहानी:
कहानी आमरी गांव के एक किसान के बेटे सरमन (ऋतिक रोशन) की है, जो चर्चित नगर मोहनजो दाड़ो जाने का सपना देखता है और एक दिन वहां पहुंच भी जाता है। मोहनजो दाड़ो में उसे वहां के पुजारी की बेटी चानी (पूजा हेगड़े) से प्यार हो जाता है, जिसकी शादी वहां के महम (कबीर बेदी) से तय हो चुकी है। महम सरमन को एक चुनौती देता है और कहता है कि यदि वह इसमें खरा उतरता है तो उसे छोड़ दिया जाएगा। सरमन इस चुनौती को पूरा कर पाता है या नहीं? चानी किसकी होती है? यह सब जानने के लिए आपको फिल्म देखनी होगी।

डायरेक्टर
फिल्म का डायरेक्शन अच्छा है। प्री-हिस्टोरिक इंडस वैली को दिखाने के लिए आशुतोष की मेहनत और रिसर्च वर्क साफ दिखाई देता है। हालांकि, इसकी लंबाई कम की जा सकती थी।

एक्टिंग
ऋतिक रोशन सरमन के रोल में बखूबी जमे हैं। वहीं, बात पूजा हेगड़े की की जाए तो पहली फिल्म के लिहाज से उन्होंने अच्छा काम किया है। कबीर बेदी, अरुणोदय सिंह और सुहासिनी मुले सहित बाकी एक्टर्स ने भी अपने रोल को काफी अच्छे से निभाया है।

म्यूजिक
फिल्म में म्यूजिक ए आर रहमान का है, जो रिलीज से पहले ही हिट हो चुका है। ‘तू है…’ और ‘सरसरिया’ सहित सभी गाने सुनने में अच्छे लगते हैं। बैकग्राउंड म्यूजिक भी ठीक है।

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>