दो हजार से ज्यादा चंदा लेने पर अब, राजनीतिक दलों को देने होगा हिसाब

Feb 01, 2017
दो हजार से ज्यादा चंदा लेने पर अब, राजनीतिक दलों को देने होगा हिसाब
वित्त मंत्री अरुण जेटली ने राजनीतिक दलों को आर्थिक शुचिता के दायरे में लाने के लिए बजट में प्रावधान किए हैं। ताकि चुनाव में कालेधन के इस्तेमाल पर लगाम लग सके। अब किसी व्यक्ति से दो हजार से ज्यादा का चंदा सिर्फ चेक या ड्राफ्ट से ही लिया जा सकेगा। मतलब कैश में नहीं। इस प्रकार अब राजनीतिक दलों को दो हजार से अधिक के चंदे के सोर्स का खुलासा करना होगा।
जानिए बजट की खास बातें
-3 लाख से ज्यादा कैश डिजिटल से होगा
-राजनीतिक दल अब सिर्फ 2000 ही कैश ले सकती हैं, अब तक 20000 थी लिमिट
-छोटी कंपनियों को कर में राहत का ऐलान
-50 करोड़ तक सलाना टर्न ओवर वाले को देना 25 % टैक्स. बता दें कि अभी टैक्स 30 प्रतिशत देना पड़ता है
-मध्यम वर्ग को राहत, सस्ता लोन देने पर जोर
-नोटबंदी के बाद लोगों को आय ज्यादा बतानी पड़ रही है
-सस्ते घरों के लिए योजना में लाएंगे बदलाव
-भूमि अधिग्रहण पर मुआवजा कर मुक्त होगा
-सिर्फ 24 लाख लोग 10 लाख से ज्यादा आय दिखाते हैं
2 हजार से ज्यादा रकम चेक या ड्राफ्ट से लेनी होगी
-एक पार्टी एक व्यक्ति से कैश में 2 हजार ही ले सकती है
-बॉन्ड खरीदकर राजनीतिक पार्टियों को दिया जा सकता है
-राजनीतिक दलों को आयकर दाखिल करना होगा
-3 लाख से ज्यादा कैश में लेनदेन नहीं
लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>