स्वतंत्रता सेनानियों की मासिक पेंशन में 5,000 रूपये की वृद्धि

Aug 19, 2016

अंडमन निकोबार के सेल्यूलर जेल में कैद किये गए स्वतंत्रता सेनानियों की मासिक पेंशन में 5,000 रूपये की वृद्धि कर दी गई है और अब यह बढ़कर 30,000 रूपये हो गई है.

यह पहल स्वतंत्रता दिवस पर लालकिले की प्राचीर से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की घोषणा के बाद सामने आई है.

गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि स्वतंत्रता सेनानियों के लिए पेंशन के संदर्भ में अंडमान के पूर्व राजनीतिक कैदियों और उनके पति या पत्नी की पेंशन 24,775 रूपये से बढ़ाकर 30,000 रूपये कर दी गई है.

ब्रिटिशकालीन भारत से बाहर प्रताड़ना झेलने वाले स्वतंत्रता सेनानियों की पेंशन को 23,085 रूपये से बढ़ा कर 28,000 रूपया प्रति माह कर दिया गया है.

आजाद हिंद फौज (आईएनए) के सदस्यों समेत अन्य स्वतंत्रता सेनानियों की पेंशन 21,395 रूपये से बढ़ाकर 26,000 हजार रूपये कर दी गई है.

उल्लेखनीय है कि देश के 70वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर लाल किले की प्राचीर से अपने संबोधन में प्रधानमंत्री ने घोषणा की थी कि स्वतंत्रता सेनानियों की पेंशन में 20 प्रतिशत की वृद्धि की जायेगी.

आधिकारी ने कहा कि केंद्रीय स्वतंत्रता सेनानियों और उनके वैध आश्रितों की ‘स्वतंत्रता सैनिक सम्मान पेंशन’ में वृद्धि 15 अगस्त 2016 से प्रभावी होगी.

स्वतंत्रता सेनानियों के पुत्र-पु़त्रियों के मानदेय को बढ़ाकर सेनानियों को मिलने वाली राशि का 50 प्रतिशत किया गया है. देश में अभी करीब 37 हजार स्वतंत्रता सेनानी हैं.
अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

 

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>