इजरायल में मोदी का जोरदार स्वागत, नेतन्याहू का हिंदी में अभिवादन

Jul 05, 2017
इजरायल में मोदी का जोरदार स्वागत, नेतन्याहू का हिंदी में अभिवादन

इजरायल का दौरा करने वाले पहले भारतीय प्रधानमंत्री के तौर पर मंगलवार को तेल अवीव पहुंचे नरेंद्र मोदी का भव्य स्वागत किया गया और खुद हवाईअड्डे पर मोदी की अगवानी के लिए पहुंचे इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने हिंदी में मोदी का अभिवादन किया और दोंने देशों के नेता गर्मजोशी से गले मिले। नेतन्याहू ने मोदी के अभिवादन में कहा, “आपका स्वागत है मेरे दोस्त। हम आपका लंबे समय से इंतजार कर रहे थे।”

तेल अवीव के बेन गुरियॉन हवाईअड्डे पर मोदी का रेड कार्पेट पर स्वागत किया गया और नेतन्याहू ने कहा, “मेरे दोस्त प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, आपका इजरायल में स्वागत है। आपका स्वागत है मेरे दोस्त।”

नेतन्याहू ने हिब्रू भाषा में भी मोदी का अभिवादन किया।

उन्होंने कहा, “हम लंबे समय से आपका इंतजार कर रहे थे। वास्तव में हमने इस दौरे का 70 वर्षो तक इंतजार किया, क्योंकि वास्तव में आपकी यह यात्रा एक ऐतिहासिक यात्रा है। यह किसी भारतीय प्रधानमंत्री की पहली इजरायल यात्रा है। हम खुली बाहों के साथ आपका स्वागत करते हैं। हम भारत को पसंद करते हैं, हम आपकी संस्कृति, आपके इतिहास, आपके लोकतंत्र और विकास को लेकर अपकी प्रतिबद्धता की सराहना करते हैं।”

इस अवसर पर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि वह इजरायल का दौरा करने वाले पहले भारतीय प्रधानमंत्री के तौर पर खुद को सम्मानित महसूस कर रहे हैं, यद्यपि दोनों देशों के बीच कूटनीतिक संबंध 25 साल पुराने हैं।

मोदी ने कहा, “भारत के पहले प्रधानमंत्री के तौर पर इजरायल की इस अभूतपूर्व यात्रा का गौरव पाकर मैं खुद को विलक्षण रूप से सम्मानित महसूस कर रहा हूं।”

तेल अवीव पहुंचने के बाद तुरंत अपने संबोधन में नेतन्याहू ने दोनों देशों के बीच मित्रता को ‘स्वाभाविक’ करार दिया।

नेतन्याहू ने कहा कि तीन साल पहले मोदी के साथ पहली मुलाकात के दौरान मोदी ने उनसे कहा था कि भारत और इजरायल के बीच संबंधों की कोई सीमा अनंत है।

नेतन्याहू ने कहा, “अपने कहा था कि जहां तक बात भारत-इजरायल के बीच संबंध की है, यह अनंत सीमा वाला है। लेकिन वास्तविकता यह है मेरे दोस्त कि यह सीमा से परे है, क्योंकि आज हमारे अंतरिक्ष कार्यक्रम सफलता की बुलंदियों को छू रहे हैं।”

नेतन्याहू ने इस अवसर पर दोनों देशों के बीच प्रौद्योगिकी, जल, कृषि, ऊर्जा सहित कई अन्य क्षेत्रों में सहयोग के लिए एक नवाचार कोष की स्थापना की घोषणा की।

नेतन्याहू ने कहा, “इस दौरे पर आपका ‘मेक इन इंडिया’ अभियान मेरे ‘मेक विद इंडिया’ नीति से जुड़ गया है। दोनों देशों के बीच प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में सहयोग को बेहतर करने के उद्देश्य से हम चार करोड़ डॉलर की राशि के साथ एक नवाचार कोष की स्थापना कर रहे हैं।”

नेतन्याहू के साथ अपनी घनिष्ठता उजागर करते हुए मोदी ने नेतन्याहू को उनके घरेलू नाम ‘बीबी’ से संबोधित किया।

मोदी ने कहा, “आज ही के दिन चार जुलाई को ठीक 41 साल पहले सैन्य अभियान एंटेब्बे चलाया गया था। उस दिन आपके प्रधानमंत्री और मेरे मित्र बीबी ने अपने छोटे भाई योनी (योनाटान नेतन्याहू का घरेलू नाम) को इजरायली बंधकों को बचाने के दौरान खो दिया था। आपके नायक युवा पीढ़ी के लिए प्रेरणास्रोत हैं।”

मोदी ने कहा, “भारत बेहद प्राचीन सभ्यता है, लेकिन आज 80 करोड़ युवाओं से भरा एक युवा देश है। सतत एवं उच्च वृद्धि दर और हर क्षेत्र में विकास की राह में भारत, इजरायल को अपना अहम साझेदार मानता है।”

मोदी ने कहा, “हम आतंकवाद जैसे आम सुरक्षा खतरों से अपने-अपने देशों की सुरक्षा के लिए मिलकर काम कर रहे हैं..इजरायल के साथ एक मजबूत और लचीली सहकारिता स्थापित करने पर मेरा फोकस होगा।”

लाइक करें:-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>